केरल के लोगों की मदद के लिए देश भर के रेलकर्मी दान करेंगे एक दिन की सैलरी

रेलवे में काम करने वाले लगभग 13 लाख रेल कर्मी अपना एक दिन का वेतन केरल में बाढ़ पीड़ितों की मदद के लिए दान करेंगे. रेलवे बोर्ड के अध्यक्ष व रेल कर्मियों के संगठनों ने कर्मियों से मदद के लिए अपील की है.

 केरल के लोगों की मदद के लिए देश भर के रेलकर्मी दान करेंगे एक दिन की सैलरी
केरल के बाढ़ पीड़ितों की मदद के लिए एक दिन का वेतन दान करेंगे रेल कर्मी (फाइल फोटो)

नई दिल्ली : रेलवे में लगभग काम करने वाले लगभग 13 लाख रेल कर्मी अपना एक दिन का वेतन केरल में बाढ़ पीड़ितों के मदद के लिए दान करेंगे. केरल में बाढ़ की भयानक त्रासिदी को देखते हुए रेलवे बोर्ड के अध्यक्ष अश्वनी लोहानी ने सभी रेल कर्मियों से इस मुश्किल घड़ी में केरल के लोगों की मदद के लिए आगे आने की अपील की है.

वेतन कम कटवाने के लिए देना होगा आवेदन
रेलवे बोर्ड के अध्यक्ष की ओर से जारी की गई अपील में रेलवे के सभी कर्मियों का एक दिन का वेतन (बेसिक पे) दान दिए जाने की बात कही गई है. लेकिन सभी कर्मियों को यह विकल्प दिया गया है कि यदि वह अपना एक दिन का वेतन दान नहीं देना चाहते हैं या दान की राशि कुछ कम देना चाहते हैं तो इसके लिए उन्हें एक एप्लीकेशन संबंधित विभाग को देनी होगी. कर्मी के अनुरोध के आधार पर उसके वेतन से दान के पैसे नहीं काटे जाएंगे. जो रेल कर्मी केरल बाढ़ पीड़ितों के लिए प्रधानमंत्री राहत कोश में दान देंगे उन्हें आयकर की धारा 80 (G) के तहत आयकर में छूट मिलेगी. रेलकर्मियों के राष्ट्रीय संगठन ऑल इंडिया रेलवे मेंस फेडरेशन के महामंत्री शिव गोपाल ने बताया कि रेल कर्मियों ने हमेशा राष्ट्रीय आपदा के दौरान मदद के लिए बढ़-चढ़ कर हिस्सा लिया है. एआईआरएफ की ओर से रेलकर्मियों से अपील की गई है कि वो इस मुश्किल समय में केरल के लोगों की मदद के लिए आगे आएं.

ये भी पढ़ें : बाढ़ पीड़ितों की मदद के लिए जाना चाहते हैं केरल, यह एयरलाइंस दे रही है मुफ्त एयर टिकट

राहत सामग्री भेजने का नहीं लगेगा कोई शुल्क
केरल में आई भयानक बाढ़ को ध्यान में रखते हुए रेलवे ने बड़ा निर्णय लिया है. रेलवे ने केरल भेजे जाने वाली राहत सामग्री को देश के किसी भी हिस्से से रेलगाड़ी के जरिए केरल भेजने पर कोई भी शुल्क न लेने का निणय लिया है. केरल के किसी भी स्टेशन के लिए समान बुक कराया जा सकता है. वहीं रेलवे ने विभिन्न मंडलों के मंडल रेल प्रबंधकों को केरल में राहत कार्यों में तेजी लाने के लिए किसी भी तरह का निर्णय लेने के लिए कहा है. केरल की ओर जा रही रेलगाड़ियों के जरिए बिना शुल्क के राहत सामग्री भेजने की व्यवस्था 31 अगस्त तक लागू रहेगी.