close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

दिल्ली-NCR में बादलों के बरसने का इंतजार जारी, 16 जुलाई से बारिश का अनुमान

बुधवार को दिल्ली के सफदरजंग मौसम केन्द्र में अधिकतम तापमान 37.2 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया, जो सामान्य से एक डिग्री ज्यादा है.

दिल्ली-NCR में बादलों के बरसने का इंतजार जारी, 16 जुलाई से बारिश का अनुमान
दिल्ली में पांच जुलाई को मानसून ने दस्तक दे दी थी. (फाइल फोटो)

नयी दिल्ली : दिल्ली-एनसीआर में रहने वाले लोगों को बारिश के लिए अभी और इंतजार करना पड़ेगा. अगले पांच दिनों तक दिल्ली-एनसीआर का मौसम शुष्क बना रहेगा. इस सप्ताह भी बारिश के लिए उम्मीद लगाए लोगों को अभी और इंतजार करना पड़ेगा. मौसम विभाग ने 16 जुलाई से बारिश होने की संभावना जताया है. 16 जुलाई को दिल्ली-एनसीआर के कई इलाकों में हल्की बूंदाबांदी हो सकती है. 18 जुलाई के बाद बारिश की इंटेंसिटी तेज होने का अनुमान है.

दिल्ली में पांच जुलाई को मानसून ने दस्तक दे दी थी, बावजूद अब तक अच्छी बारिश नहीं हुई है. दिल्ली में बरसने वाले बादलों की मेहरबानी नहीं होने से अब तक 77 फीसदी कम बारिश दर्ज हुई है.

सफदरजंग केंद्र पर बीते 24 घंटे में ही 0.4 मिमी बारिश दर्ज की गई है. आमतौर पर जुलाई के दस दिन में 49 मिमी बारिश हो जाती है. मानसून के देरी से पहुंचने के कारण ही बारिश पर असर पड़ रहा है.

प्रादेशिक मौसम पूर्वानुमान केन्द्र के प्रमुख कुलदीप श्रीवास्तव ने बताया कि मानसून की रेखा (मानसून ट्रफ) इस समय हिमालय की निचली पहाड़ियों की तरफ चली गई है. इसके चलते हिमालय के उच्च और निचले हिस्से में अच्छी बारिश के आसार हैं. लेकिन, दिल्ली में बारिश होने की संभावना कम है. 15 जुलाई के बाद हल्की बारिश के आसार हैं. जबकि, उत्तर-पश्चिमी दिशा की ओर से तेज हवाएं चलती रहेंगी. बारिश नहीं होने का असर तापमान पर भी दिखने लगा है.

बुधवार को दिल्ली के सफदरजंग मौसम केन्द्र में अधिकतम तापमान 37.2 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया, जो सामान्य से एक डिग्री ज्यादा है. जबकि, न्यूनतम तापमान 28.2 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया, जो सामान्य से एक डिग्री ज्यादा है. बारिश नहीं होने से कुछ दिनों में तापमान में थोड़ा इजाफा हो सकता है, हालांकि यह 40 से नीचे बना रहेगा. वहीं, हवा में धूल कणों की मात्रा कम होने से वायु गुणवत्ता साफ-सुथरी बनी हुई है.