राजेंद्र कुमार और 6 अन्य 27 जुलाई तक न्यायिक हिरासत में

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के पूर्व प्रधान सचिव राजेंद्र कुमार और छह अन्य को आज एक विशेष अदालत ने 27 जुलाई तक न्यायिक हिरासत में भेज दिया। भ्रष्टाचार के आरोप में गिरफ्तार कुमार एवं छह अन्य को न्यायिक हिरासत में भेजने का आदेश अदालत ने तब दिया जब सीबीआई ने कहा कि आगे की जांच के लिए अब उनकी जरूरत नहीं है।

नई दिल्ली : दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के पूर्व प्रधान सचिव राजेंद्र कुमार और छह अन्य को आज एक विशेष अदालत ने 27 जुलाई तक न्यायिक हिरासत में भेज दिया। भ्रष्टाचार के आरोप में गिरफ्तार कुमार एवं छह अन्य को न्यायिक हिरासत में भेजने का आदेश अदालत ने तब दिया जब सीबीआई ने कहा कि आगे की जांच के लिए अब उनकी जरूरत नहीं है।

कुमार ने अदालत में एक जमानत अर्जी भी दाखिल की, जिसमें कहा गया है कि जांच के लिए अब उनकी जरूरत नहीं है। अदालत ने कुमार की जमानत अर्जी पर सीबीआई से जवाब मांगा और मामले की सुनवाई की अगली तारीख 21 जुलाई तय कर दी।

विशेष सीबीआई न्यायाधीश अरविंद कुमार ने एजीएमयूटी कैडर के 1989 बैच के आईएएस अधिकारी राजेंद्र कुमार, केजरीवाल के कार्यालय के पूर्व उप-सचिव तरूण शर्मा, कुमार के करीबी सहयोगी अशोक कुमार और एक निजी कंपनी के मालिक संदीप कुमार एवं दिनेश कुमार गुप्ता को सीबीआई हिरासत से अदालत में पेशी के बाद जेल भेज दिया।

अदालत ने आरएस कौशिक और जी के नंदा को भी 27 जुलाई तक न्यायिक हिरासत में भेज दिया। कौशिक एक सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनी के मौजूदा जबकि नंदा इसके पूर्व प्रबंध निदेशक हैं। सीबीआई ने अदालत को बताया कि हिरासत में उनकी पूछताछ पूरी हो चुकी है और उन्हें न्यायिक हिरासत में भेजा जाए।