close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

राज्यसभा सांसद डॉ. सुभाष चंद्रा ने दिल्ली में किया अग्रोहा भवन का भूमि पूजन

डॉ. चंद्रा ने कहा कि महाराजा अग्रेसन ने अग्रोहा में राजधानी बनाकर जो संदेश विश्व को दिया वैसा ही संदेश इस भवन से जाना चाहिए.

राज्यसभा सांसद डॉ. सुभाष चंद्रा ने दिल्ली में किया अग्रोहा भवन का भूमि पूजन
दिल्ली के माता सुंदरी मार्ग पर अग्रोहा भवन का अग्रोहा समाज विकास ट्रस्ट की तरफ से भूमि पूजन किया गया.

नई दिल्ली: दिल्ली के माता सुंदरी मार्ग पर रविवार को अग्रोहा भवन का अग्रोहा समाज विकास ट्रस्ट की तरफ से भूमि पूजन किया गया. इस भूमि पूजन कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में राज्यसभा सांसद डॉ. सुभाष चंद्रा, केंद्रीय मंत्री डॉ. हर्षवर्धन और केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने शिरकत की. इस जगह पर विश्व का एकमात्र वैश्य समाज का 5 हज़ार वर्ष पूर्व का इतिहास का संग्रहालय और समस्त वैश्य समाज के 362 घटकों पर एकमात्र अनुसंधान केंद्र एवं अन्य सेवा कार्य करने को योजना है.

19 साल के संघर्ष के अग्रोहा समाज को सरकार से ये प्लाट मिला है. बताया जा रहा है कि डेढ़ साल में संग्रहालय निर्माण को पूरा करने की योजना है. इस कार्यक्रम में डॉ. सुभाष चंद्रा ने कहा कि मुझे यहां पुरानी रामेवश्वर दास गुप्ता जी से हुई बातें याद आई. डॉ. शंकर दयाल शर्मा के पास हमारे समाज के लोग गए उस वक़्त वो संचार मंत्री थे. हमने उनको कहा कि महाराजा अग्रसेन के ऊपर एक डाक टिकट जारी होना चाहिए. उन्होंने मंज़ूर भी किया लेकिन डाक टिकट जारी होने से पहले हमारे समाज के सेक्रेटरी ने कहा कि इस बात का प्रमाण नही है कि महाराजा अग्रेसन थे.
 
डॉ. चंद्रा ने कहा कि मुझे याद है कि एक युवा बच्चे की तरह मैं अपने पिता जी के साथ उस डेलीगेशन में था तो मैंने रामेश्वर दास जी से कहा कि हम एक एफिडेविट दें कि हम उनके वंशज है तो ये क्यों मना करेंगे. तो ये बात मानी गई और फिर एफिडेविट देकर डाक टिकट जारी किया गया. बता दें कि इस प्लॉट का इतिहास है, पूर्व पीएम अटल की सरकार में ये प्लॉट अलॉट हुआ था, सरकार बदली प्लॉट पर रोक लग गई, अब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार में ये प्लॉट मिला है.

उन्होंने कहा कि महाराजा अग्रेसन ने अग्रोहा में राजधानी बनाकर जो संदेश विश्व को दिया वैसा ही संदेश इस भवन से जाना चाहिए. ये भवन अग्रोहा की एम्बेसी की तरह होना चाहिए. समाज के लोग 1100-1100 रुपए दें. 1100 करोड़ इकठ्ठा हो जाएगा. 100 करोड़ में भवन बनाएं बाकी पैसा देश की सेवा में लगाएं. इसके साथ ही डॉ. चंद्रा ने लोगों को नव वर्ष की शुभकामनाएं भी दीं.