close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

ऑपरेशन थर्स्ट: रेलवे स्‍टेशनों पर यात्रियों की सेहत से हो रहा बड़ा खिलवाड़, 801 गिरफ्तार

रेलवे प्रोटेक्शन फोर्स के सीनियर ऑफिसर ने बताया की लगातार शिकायत मिल रही थी कि धड़ल्ले से स्टेशनों पर यात्रियों को अवैध पानी बेचा जा रहा है, जिसके बाद आरपीएफ डीजी ने 'ऑपरेशन थर्स्ट' अभियान चलाया, जिसके लिए स्पेशल टीम बनाकर तमाम स्टेशनों के हॉकर्स और स्टॉल पर जाकर रेड की.

ऑपरेशन थर्स्ट: रेलवे स्‍टेशनों पर यात्रियों की सेहत से हो रहा बड़ा खिलवाड़, 801 गिरफ्तार
देशभर से कुल मिलाकर 801 लोगों को अवैध पानी बेचने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है.

नई दिल्ली: देश में गर्मी प्रकोप है. पानी की मांग लगातार बढ़ रही है. इस मौके का फायदा अवैध पानी का कारोबार करने वाले उठा रहे हैं और लोगों की जान के साथ खिलवाड़ कर रहे हैं. इस पर रोक लगाने के लिए आरपीएफ के डीजी अरुण कुमार ने देश के सभी स्टेशनों पर अभियान चलाया, जिसे 'ऑपरेशन थर्स्ट' नाम दिया गया.

इस अभियान के तहत अवैध पानी बेचने के आरोप में लोगों की गिरफ्तारी के साथ, पानी की बोतलें भी बरामद की, लेकिन इस अवैध कारोबार में पेंट्री कार के मैनेजर भी शामिल थे.  

रेलवे प्रोटेक्शन फोर्स के सीनियर ऑफिसर ने बताया की लगातार शिकायत मिल रही थी कि धड़ल्ले से स्टेशनों पर यात्रियों को अवैध पानी बेचा जा रहा है, जिसके बाद आरपीएफ डीजी ने 'ऑपरेशन थर्स्ट' अभियान चलाया, जिसके लिए स्पेशल टीम बनाकर तमाम स्टेशनों के हॉकर्स और स्टॉल पर जाकर रेड की. रेड के दौरान तमाम स्टेशन पर अवैध पानी मिला, जिसको स्टेशन पर बेचने की परमिशन नहीं थी और वो पानी की बोतलें भी थी, जिन्हें यूजलेस बोतल में पानी भरकर बेचा जा रहा था. 

 

अधिकारी ने बताया कि कुल मिलाकर 801 लोगों को अवैध पानी बेचने के आरोप में गिरफ्तार किया और रेलवे एक्ट 144 और 153 के तहत 732 केस दर्ज किए गए और गिरफ्तार किए गए लोगों के पास से 48,860 पानी की अवैध बोतल बरामद की. 

देशभर में पढ़ रही चिलचिलाती गर्मी से लोग परेशान हैं, जिसकी वजह से पानी की मांग ज्यादा बढ़ गई है. तभी ये अवैध पानी बेचने का कारोबार करने वाले लोग चंद मुनाफे के लिए लोगों की सेहत के साथ खिलवाड़ करते हैं. अवैध पानी को पीने से यात्रियों की तबियत भी खराब हो सकती है, लेकिन इस गोरखधंधे को चलवाने में ट्रेन की पेंट्री कार के मैनेजर भी शामिल थे. चार पेंट्री मैनेजर को आरपीएफ ने गिरफ्तार किया है.