सत्येंद्र जैन बोले- UP में बढ़ते कोरोना केस के बावजूद खुले हैं होटल, फिर दिल्ली में पाबंदी क्यों?

दिल्ली स्वास्थ्य मंत्री ने उपराज्यपाल के फैसले पर नाराजगी जाहिर करते हुए ये बयान दिया है.

सत्येंद्र जैन बोले- UP में बढ़ते कोरोना केस के बावजूद खुले हैं होटल, फिर दिल्ली में पाबंदी क्यों?
फाइल फोटो

नई दिल्ली: राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली (Delhi) के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन (Satyendra Kumar Jain) ने उपराज्यपाल के फैसले पर नाराजग जाहिर करते हुए बड़ा सवाल किया है. उन्होंने कहा कि, अगर UP में बढ़ते कोरोना (Coronavirus) केस के बावजूद होटल खुले हुए हैं, जो दिल्ली में आज भी होटल खोलने पर पाबंदी क्यों हैं? 

उन्होंने कहा कि देशभर में कोरोना के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं. हालांकि दिल्ली में कोरोना की स्थिति में पहले से काफी सुधार है. यहां रिकवरी रेट भी करीब 84 प्रतिशत हो गया है. लेकिन इसके उपराज्यपाल ने प्रदेश में होटलों को खोलने पर लगी पाबंदी नहीं हटाई है. उन्होंने कहा कि राजधानी दिल्ली की सीमा से लगते गाजियाबाद, नोएडा, हरियाणा में भी कोरोना के केस लगातार बढ़ रहे हैं. 

लेकिन फिर भी वहां होटलों पर लगी पाबंदी को हटा लिया गया है. तो फिर दिल्ली में होटल क्यों नहीं खुल सकते? जैन ने आगे कहा कि दिल्ली में कोरोना के मामले लगातार कम हो रहे हैं, अगर उपराज्यपाल प्रदेश में होटलों के खुलने पर लगी पाबंदी को हटा देते तो लोगों को बड़ी राहत मिलती.

ये भी पढ़ें:- EXCLUSIVE: किसके लिए सुशांत सिंह के घर में होती थी पूजा-पाठ, दोस्त ने खोला राज

बताते चले की दिल्ली सरकार और एलजी के बीच अरविंद केजरीवाल की सरकार बनने से लेकर लगातार जंग जारी रही है. जिसमे कई बार सीएम केजरीवाल ने एलजी पर आरोप लगाते हुए उन्हें काम में रोड़ा भी बताया है. केजरीवाल मंत्रिमंडल ने दिल्ली के अस्पतालों में सिर्फ कोरोना रोगियों के उपचार का फैसला लिया था. हालांकि 24 घंटे से भी कम समय में दिल्ली के उपराज्यपाल ने दिल्ली सरकार के फैसले को पलट दिया है और देश में कहीं भी रहने वाला व्यक्ति के राजधानी में इलाज की मंजूरी दे दी.

इसके बाद बीजेपी के दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष ने उपराज्यपाल के फैसले पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा, “बीजेपी पहले से ही इस फैसले को रद्द करने की मांग कर रही थी. जिस तरह से नाकामी से बचने के लिए केजरीवाल सरकार ने बाहर के लोगों का इलाज करने से मना किया और फिर असिम्पटोमैटिक केसेज के कोरोना टेस्ट करने पर भी रोक लगा दी, इन दोनों आदेशों को उपराज्यपाल ने निरस्त कर दिया है. इससे जनता को बहुत राहत मिलेगी. मैं सीएम से अपील करना चाहूंगा कि वे धरातल पर काम करें, जिससे लोगों का इलाज हो, जिससे लोगों के अंदर डर और भय का माहौल खत्म हो सके.”

बता दें की देश में कोरोना के मरीजों की संख्या 17 लाख 744 हो गई है, जिसमें से 5 लाख 66 हजार 984 एक्टिव केस है. अबतक 10 लाख 96 हजार 761 लोग ठीक होकर घर जा चुके हैं जबकि 36 हजार 573 लोगों की अब तक मौत हो चुकी है. वहीं देश में पिछले 24 घंटों के दौरान कोरोना के 57 हजार 117 से नए पॉजिटिव केस सामने आए हैं. अब तक का यह सबसे बड़ा आंकड़ा है. वहीं कोरोना से पिछले 24 घंटों में 764 लोगों की मौत हो गई. 

LIVE TV