close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

तीस हजारी कांड: DCP मोनिका भारद्वाज के साथ हुई थी बदसलूकी, सामने आया ये VIDEO

तीस हजारी कोर्ट में उपद्रवी वकीलों ने महिला IPS अफसर से बदसलूकी की थी.

तीस हजारी कांड: DCP मोनिका भारद्वाज के साथ हुई थी बदसलूकी, सामने आया ये VIDEO
महिला आईपीएस अफसर मोनिका भारद्वाज को वकीलों के हमले से बचाते लोग.

नई दिल्ली: दिल्ली की तीस हजारी अदालत (Tis Hazari Court) में हुए झगड़े में कई सनसनीखेज खुलासे धीरे-धीरे सामने आ रहे हैं. शनिवार को हुए बवाल के दौरान उत्तरी जिला पुलिस उपायुक्त (DCP) मोनिका भारद्वाज (Monika Bhardwaj) के साथ हुई बदसलूकी का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है.  

वीडियो में देखा जा सकता है कि पुलिसकर्मियों और वकीलों की झड़प की सूचना पर डीसीपी मोनिका कुछ पुलिसकर्मियों के साथ कोर्ट परिसर पहुंचती हैं, लेकिन वहां हंगामा कर रहे वकीलों ने उनसे बात के बजाय उनसे बदसलूकी करना शुरू कर दी. यही नहीं, हंगामे के बीच वकीलों के झुंड ने महिला पुलिस अफसर पर हमला भी कर दिया.

वीडियो में साफ तौर पर रिकॉर्ड हुआ है कि डीसीपी मोनिका भारद्धाज को हमले से बचाते हुए दो लोग कोर्ट परिसर से बाहर की ओर दौड़ते हैं. उनके पीछे सैकड़ों की तादाद में उग्र वकील दौड़ रहे हैं. हमले और बदसलूकी का यह 1:50 मिनट का वीडियो कोर्ट के गेट पर लगे सीसीटीवी में कैद हो गया.

ऑडियो भी आ चुका
इसके साथ ही दो पुलिस कर्मियों का ऑडियो भी वायरल हो रहा है, जिसमें एक शख्स बता रहा है कि कैसे उसने मैडम को बचाने की कोशिश की और भीड़ ने उसके साथ मारपीट की. कहा जा रहा है कि ऑडियो टेप में हादसे की आपबीती बयान करते-करते बिलख पड़ने वाला उत्तरी दिल्ली जिले की डीसीपी (उपायुक्त) मोनिका भारद्वाज का निजी सुरक्षा गार्ड (ऑपरेटर) है. हालांकि, ज़ी न्यूज़ डॉट कॉम इन ऑडियो की सत्यता की पुष्टि नहीं करता है.

महिला आयोग ने की निंदा
मोनिका के साथ हुई इस बदसलूकी की राष्ट्रीय महिला आयोग की अध्यक्ष रेखा शर्मा का कहना है कि वह स्वत: इसका संज्ञान लेंगी. रेखा ने कहा, ‘मैं इसकी निंदा करती हूं. मैं स्वत: संज्ञान लेने जा रही हूं और इस बारे में बार काउंसिल व दिल्ली पुलिस कमिश्नर को पत्र लिखूंगी.’

क्या है मामला
गौरतलब है कि शनिवार को तीस हजारी अदालत परिसर में पार्किंग को लेकर एक वकील और कुछ पुलिसकर्मियों के बीच मामूली बहस हो गई, जिससे बाद इसने हिंसा का रूप ले लिया. इस दौरान एक वकील को गोली भी लग गई थी.

मोनिका भारद्वाज पहले भी रहीं चर्चा में
उल्लेखनीय है कि, यही उत्तरी जिला डीसीपी मोनिका भारद्वाज जब पश्चिमी दिल्ली जिले की डीसीपी थीं, तब भी मायापुरी इलाके में की गई अतिक्रमण विरोधी कार्रवाई के दौरान कई पुलिसकर्मी जमकर पीटे गए थे. जबकि खुद डीसीपी मोनिका भारद्वाज मौके पर ही कथित रूप से बेहोश होकर गिर पड़ी थीं.