प्रद्युम्न मर्डर केस: 14 स्कूलों ने सुरक्षा जांच के लिए CISF से संपर्क किया

गुड़गांव के एक स्कूल में प्रद्युम्न ठाकुर नामक बच्चे की हत्या की पृष्ठभमि में अपने परिसर और छात्रों की हिफाजत को ध्यान में रखते हुए 14 स्कूलों ने पेशेवर सुरक्षा जांच के लिए सीआईएसएफ से संपर्क किया है.

प्रद्युम्न मर्डर केस: 14 स्कूलों ने सुरक्षा जांच के लिए CISF से संपर्क किया

नई दिल्ली: गुड़गांव के एक स्कूल में प्रद्युम्न ठाकुर नामक बच्चे की हत्या की पृष्ठभमि में अपने परिसर और छात्रों की हिफाजत को ध्यान में रखते हुए 14 स्कूलों ने पेशेवर सुरक्षा जांच के लिए सीआईएसएफ से संपर्क किया है. केंद्रीय गृह मंत्रालय के कमान के तहत काम करने वाले अर्द्धसैन्य बल ने कुछ समय पहले देश भर के स्कूलों को अपनी विशेष परामर्श इकाई की सेवाओं की पेशकश की थी . यह इकाई संगठनों और एजेंसियों को सुरक्षा सुझाव देती है.

सीआईएसएफ के प्रवक्ता सहायक महानिरीक्षक हेमेंद्र सिंह ने बताया कि सुरक्षा व्यवस्था मजबूत करने के तहत अब तक देश के सभी हिस्से से 14 स्कूलों ने बच्चों की सुरक्षा के लिए सीआईएसएफ से परामर्श सेवा का अनुरोध किया है .

केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल (सीआईएसएफ) की ओर से प्रस्तुत सेवा में दिलचस्पी दिखाने वालों में कोलकाता, मुंबई और देहरादून के नामी गिरामी स्कूल हैं. सिंह ने कहा, 'परामर्श खंड की विशेषज्ञ टीमें जल्द ही इन स्कूलों का दौरा करेगी और उनके लिए पेशेवर सुरक्षा खाका तैयार करेगी.' सीआईएसएफ की सुरक्षा परामर्शी खंड की स्थापना 1999 में हुयी थी इसने अब तक आईआईटी, आईआईएम, आरबीआई और हैदराबाद में राष्ट्रीय पुलिस अकादमी सहित 150 से ज्यादा संगठनों या संस्थानों को अपनी विशेषज्ञ सलाह दी है .