Delhi में Corona से हालात बेकाबू, डॉक्टरों की कमी से निपटने के लिए किए गए ये इंतजाम

देश की राजधानी दिल्ली में कोरोना (Corona in Delhi) से होने वाली मौतें नया रिकॉर्ड बना रही है. हालात यह हैं कि दिल्ली के अस्पताल कोरोना मरीजों से फुल हैं और कोरोना संक्रमितों की संख्या लगातार बढ़ रही है.

Delhi में Corona से हालात बेकाबू, डॉक्टरों की कमी से निपटने के लिए किए गए ये इंतजाम
फाइल फोटो

नई दिल्ली: देश की राजधानी दिल्ली में कोरोना (Corona in Delhi) से होने वाली मौतें नया रिकॉर्ड बना रही है. हालात यह हैं कि दिल्ली के अस्पताल कोरोना मरीजों से फुल हैं और कोरोना संक्रमितों की संख्या लगातार बढ़ रही है. हर रोज दिल्ली का कोरोना अपडेट जारी होने के बाद महामारी ओर विकराल रूप लेती दिखाई दे रही है. 

दिल्ली में डॉक्टरों की हुई कमी
इस ​बीच कोरोना मरीजों की बढ़ती संख्या से दिल्ली में डॉक्टरों की भी कमी (Shortage of doctors in Delhi) होनी शुरू हो गई है. जिसे देखते हुए मुख्यमंत्री अरविंदर केजरीवाल ने चौथे और पांचवें साल के एमबीबीएस और डेंटल छात्रों को कोविड मरीजों का इलाज कर रहे डॉक्टरों को असिस्ट करने का निर्देश दिया है. स्वास्थ्य मंत्री सत्येन्द्र जैन ने उम्मीद जाहिर की कि इस कदम से दिल्ली में डॉक्टरों की कमी पूरी हो सकेगी. 

दिल्ली में कोरोना (Corona in Delhi) का 'आपातकाल'
लगातार चौथे दिन सोमवार को दिल्ली में कोरोना  (Corona in Delhi) से 100 से ज्यादा लोगों की मौत हुई है. वहीं लगातार दूसरे दिन दिल्ली में कोरोना से 121 लोगों ने दम तोड़ा. दिल्ली में कोरोना से अब तक 8512 लोगों की मौत हो चुकी है. राजधानी में 24 घण्टे के अंदर कोरोना के 4 हज़ार 454 नए केस सामने आए. इसके साथ ही दिल्ली में संक्रमितों की कुल संख्या 5 लाख 34 हजार 317 पहुंच गई.  

VIDEO

24 घंटे में कोरोना से 7 हजार 216 लोग ठीक हुए
हालांकि अच्छी खबर ये है 24 घंटे में कोरोना से सही होने वाले मरीजों की संख्या 7 हजार 216 थी. दिल्ली में कोरोना  (Corona in Delhi) डेथ रेट 1.59 प्रतिशत है. दिल्ली में अभी भी कोरोना के 37 हजार 329 एक्टिव केस हैं. दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येन्द्र जैन ने कोरोना से मौत के बढ़ते मामलों की वजह पराली से बढ़े प्रदूषण को बताया है.  सत्येंद्र जैन ने कहा कि पराली के पॉल्यूशन की वजह से केस खराब हुए. इसका असर धीरे धीरे देखने को मिलेगा. 

दिल्ली में कोरोना (Corona in Delhi) आउट ऑफ कंट्रोल ! 
दिल्ली में कोरोना (Corona in Delhi) से अब तक 8512 लोगों की मौत हुई है. राजधानी में पिछले 7 दिनों के अंदर ही 799 लोगों की मौत हो गई. वहीं नवंबर महीने में दिल्ली के अंदर 1991 लोगों की कोरोना से जान गई. कोरोना से मरने वालों के ये आंकड़े दिल्ली वालों को डरा रहे हैं क्योंकि अब तक कोरोना संक्रमण के मामले भले ही ज्यादा आ रहे हों लेकिन मरने वालों की संख्या इतनी तेजी से नहीं बढ़ रही थी. 

सात दिन में कोरोना से मौत
- 23 नवंबर को कोरोना से 121 लोगों की मौत 
- 22 नवंबर को भी कोरोना से 121 लोगों ने दम तोड़ा 
- 21 नवंबर को कोरोना से 111 लोगों की मौत हुई 
- 20 नवंबर को 118 कोरोना संक्रमितों की मौत हुई   
- 19 नवंबर को 98 वहीं 18 नवंबर को रिकॉर्ड 131 लोगों की कोरोना से मौत हुई 
- 17 नवंबर को भी 99 लोगों की कोरोना से मौत हुई 

ये भी पढ़ें- DNA ANALYSIS: दिल्ली में कोरोना के कहर के बीच डरा रहा अस्पतालों का ये सच

सुप्रीम कोर्ट ने सरकार से मांगी रिपोर्ट
इधर दिल्ली के हालात पर अब सुप्रीम कोर्ट भी सख्त हो गया है. सुप्रीम कोर्ट ने दिल्ली सरकार को नोटिस भेजकर स्टेटस रिपोर्ट दाखिल करने को कहा है. सुप्रीम कोर्ट ने सवाल पूछा है कि 2 हफ्ते में हालात कैसे बिगड़े और कोरोना के बढ़ते रफ्तार से दिल्ली सरकार कैसे निपट रही है. क्या अस्पतालों में पर्याप्त मात्रा में बेड हैं ? सुप्रीम कोर्ट ने महाराष्ट्र, गुजरात के हालात पर भी  चिंता जताई है. 

LIVE TV

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.