close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

साउथ एवेन्यू हत्या मामला: पति की हत्या की सुपारी देने के आरोप में महिला और उसका प्रेमी गिरफ्तार

 सुरेश कुमार का गला उस समय काट दिया गया जब सात जून को वह अपने घर में अकेला था.

साउथ एवेन्यू हत्या मामला: पति की हत्या की सुपारी देने के आरोप में महिला और उसका प्रेमी गिरफ्तार
(प्रतीकात्मक फोटो)

नई दिल्ली: एक महिला और उसके प्रेमी को यहां साउथ एवेन्यू में उसके घर में अपने पति की हत्या के लिए 7,000 रुपये में भाड़े के हत्यारों को सुपारी देने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है.

पुलिस ने शनिवार को बताया कि 52 वर्षीय सुरेश कुमार की हत्या के सिलसिले में एक नाबालिग को भी पकड़ा गया है. हालांकि नाबालिग का साथी अमन घटना के बाद से फरार है. सुरेश कुमार का गला उस समय काट दिया गया जब सात जून को वह अपने घर में अकेला था.

कुमार की पत्नी अंजू और शिवम ठाकुर (21) को गिरफ्तार कर लिया गया है. अमन, ठाकुर का दोस्त था और उसने कुमार की हत्या के लिए कथित तौर पर भाड़े के हत्यारों को सुपारी दी. दंपति साउथ एवेन्यू में सांसद के फ्लैट में सर्वेंट क्वार्टर में रह रहे थे.

पुलिस के अनुसार, कुमार के अपने से 16 साल छोटी पत्नी के साथ अच्छे संबंध नहीं थे और वह जुआ खेलता था. घटना की रात एक निवासी ने इलाके से मास्क पहने हुए दो लोगों को भागते हुए देखा.

पुलिस उपायुक्त (नयी दिल्ली) मधुर वर्मा ने बताया कि पूछताछ के दौरान पुलिस को पता चला कि अंजू अक्सर अपने पति के बिना मेरठ में अपने परिवार और दोस्तों से मिलने जाती थी. इससे इस घटना में उसके शामिल होने का संदेह हुआ और पुलिस ने ठाकुर, उसके रिश्तेदार और प्रेमी पर ध्यान केंद्रित किया.

उन्होंने बताया कि ठाकुर को उत्तरी दिल्ली के बुराड़ी में उसके एक रिश्तेदार के घर से पकड़ा गया. पूछताछ में खुलासा हुआ कि ठाकुर ने अंजू से करीबी बढ़ायी थी जो उसकी जान-पहचान की थी.

अधिकारी ने कहा,‘अंजू ने बताया कि वह अपनी शादीशुदा जिंदगी से खुश नहीं थी. उसका पति घर में जुआ खेलता था और कई लोग उसके घर आते थे जिस पर उसने आपत्ति जताई थी. वह कभी भी उनके लिए चाय और खाना बनाने के लिए कहता था.’

घटना से एक महीने पहले पति के साथ झगड़ा होने पर अंजू ने जहर भी खाया था. जब ठाकुर ने इसकी वजह पूछी तो उसने कहा कि या तो उसे या उसके पति को मरना होगा. इसके बाद ठाकुर ने अंजू के साथ मिलकर सुरेश को मारने की साजिश रची.

पुलिस ने बताया कि ठाकुर मेरठ में एक मेडिकल स्टोर में काम करता था जबकि अंजू साउथ एवेन्यू में एक सांसद के फ्लैट में घरेलू सहायिका का काम करती थी.