close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

छात्र ने 3 दोस्तों के साथ मिलकर बनाया अपनी किडनैपिंग का प्लान, पिता से मांगी 50 लाख की फिरौती

पूछताछ में जतिन ने बताया कि उसके पिता उसे घर से बाहर नहीं जाने देते थे और न ही जेब खर्च के लिए रुपये देता. इसलिए उसने व उसके साथियों ने यह मनघंड़त कहानी रची. 

छात्र ने 3 दोस्तों के साथ मिलकर बनाया अपनी किडनैपिंग का प्लान, पिता से मांगी 50 लाख की फिरौती

विनोद मित्तल, फरीदाबादः दिल्ली से सटे पलवल में छात्र ने अपने 3 साथियों के साथ मिलकर खुद ही अपने अपहरण की साजिश रची और अपने पिता से फिरौती के तौर पर 50 लाख रुपये की मांग की. पुलिस ने छात्र के पिता की प्राथमिक शिकायत पर गुमशुदी का मामला दर्ज कर गहनता से जांच की तो सारे मामले का खुलासा हुआ. सीआईए पलवल व साईबर सेल की गहन जांच के बाद आरोपी छात्र व उसके 3 साथियों को फरीदाबाद से गिरफ्तार किया गया और उन्हें अदालत में पेश कर शनिवार को 2 दिन के पुलिस रिमांड पर ले लिया गया है.

डीएसपी सुरेश कुमार ने बताया कि गांव मांदकौल निवासी चमन प्रकाश ने 23 सिंतबर को पुलिस को एक शिकायत दर्ज कराई थी कि उसका पुत्र जतिन 12वीं कक्षा का छात्र है. जतिन 21 सिंतबर को बगैर कुछ बताए घर से कहीं चला गया. जिसको काफी तलाश किया गया लेकिन कहीं कुछ पता नही चला. शिकायत में कहा गया कि जतिन को अंतिम बार गांव निवासी पवन व हरिओम के साथ देखा गया और पवन व हरिओम भी उसी दिन से गायब थे. जतिन व उसके साथियों ने 25 सिंतबर को अपने पिता चमन प्रकाश के पास फोन किया और कहा कि यदि जतिन को वापस लेना चाहते है तो 50 लाख रुपये का इंतजाम कर लें तथा बार-बार फोन कर फिरौती की रकम मांगते रहे.

चमन प्रकाश ने फिरौती की जानकारी पुलिस को दी. पुलिस अधीक्षक नरेंद्र बीजारनिया के नेतृत्व में जांच सीआईए व साईबर सैल को सौंपी गई. जांच व फिरौती के लिए किए गए फोन नंबरो के आधार पर जतिन व उसके साथियों की लोकेशन फरीदाबाद की पाई गई. पुलिस टीम ने 27 सिंतबर को जतिन व उसके साथी गांव निवासी पवन, हरिओम व फरीदाबाद निवासी ईशांत को फरीदाबाद स्थित मिलन होटल के समीप से गिरफ्तार किया गया.

पूछताछ में जतिन ने बताया कि उसके पिता उसे घर से बाहर नहीं जाने देते थे और न ही जेब खर्च के लिए रुपये देता. इसलिए उसने व उसके साथियों ने यह मनघंड़त कहानी रची.

पूछताछ में बताया कि सबसे पहले वे चारों साथी कोकिलावन धाम गए और उसके बाद अपने साथी ईशांत के घर पर रुके और उसकी कार में इधर-उधर पार्को के समीप व सुनसान जगह जाकर समय बीताते रहे. पुलिस ने आरोपियों से मोबाइल फोन की बरामदगी व निशानदेही के लिए चारों को अदालत में पेश कर दो दिन के लिए पुलिस रिमांड पर लिया हुआ है.