दिल्ली में MCD चुनाव के लिए स्वराज पार्टी का दृष्टिपत्र जारी, इन बिंदुओं पर है जोर

दिल्ली नगर निगम चुनावों के लिए पूरा जोर लगाते हुए स्वराज इंडिया पार्टी ने आज दिल्ली के लिए नगर निगम प्रशासन का दृष्टिपत्र ‘साफ दिल, साफ दिल्ली’ जारी किया जिसमें जन-भागीदारी के साथ एक ऐसे गवर्नेंस मॉडल की बात की गयी है जो लोगों की जरूरतों और आकांक्षाओं को पूरा करने के साथ प्रशासन के लिए वैकल्पिक सोच और नीतिगत एजेंडा पेश करेगी।

दिल्ली में MCD चुनाव के लिए स्वराज पार्टी का दृष्टिपत्र जारी, इन बिंदुओं पर है जोर
स्वराज इंडिया पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष योगेन्द्र यादव

नयी दिल्ली: दिल्ली नगर निगम चुनावों के लिए पूरा जोर लगाते हुए स्वराज इंडिया पार्टी ने आज दिल्ली के लिए नगर निगम प्रशासन का दृष्टिपत्र ‘साफ दिल, साफ दिल्ली’ जारी किया जिसमें जन-भागीदारी के साथ एक ऐसे गवर्नेंस मॉडल की बात की गयी है जो लोगों की जरूरतों और आकांक्षाओं को पूरा करने के साथ प्रशासन के लिए वैकल्पिक सोच और नीतिगत एजेंडा पेश करेगी।

पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष योगेन्द्र यादव ने बताया कि स्वराज इंडिया ने निगम चुनावों से चुनावी शुरुआत इसलिए की क्योंकि स्वराज के विचार को लेकर स्वराज इंडिया पूरी तरह से प्रतिबद्ध है। इसलिए जब चुनावी राजनीति में भागीदारी की बात आयी तो हमने लोकतंत्र के प्राथमिक स्तर को चुना।

उन्होंने कहा कि नगर निगम प्रशासन बहुत ही महत्वपूर्ण प्रशासनिक स्तर है लेकिन अब तक यह उपेक्षित रहा है। जनभागीदारी के साथ जवाबदेह प्रशासन की शुरुआत पंचायत और निगम प्रशासन से ही होनी चाहिए। स्वराज इंडिया के राजनीतिक सफर की शुरुआत यहां से होगी। हमने चुनाव लड़ने के लिए एमसीडी को प्राथमिकता दी है।

दृष्टिपत्र में पर्यावरण और स्वच्छता को सबसे अधिक महत्व

स्वराज इंडिया के इस नगर निगम के दृष्टिपत्र में पर्यावरण और स्वच्छता को सबसे अधिक महत्व दिया गया है। ‘साफ दिल, साफ दिल्ली’ की इस कार्ययोजना के केंद्र में तीन मुख्य एजेंडा है जिसमें कचरा-मुक्त दिल्ली, महामारी-मुक्त दिल्ली और प्रदूषण-मुक्त दिल्ली शामिल है।

स्वराज इंडिया के इस कार्ययोजना में दिल्ली में बेहतर कचरा प्रबंधन सुनिश्चित करने के साथ जैविक कचरा, गीला कचरा, ठोस कचरा और प्लास्टिक पदार्थो वाले हानिकारक कचरे का अलग-अलग प्रबंधन करने की बात कही गई है।