close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

दिल्ली में मेट्रो की कंपन से दरक जा रही है घरों की दीवारें, लोग परेशान

साउथ दिल्ली के दो इलाकों सर्वप्रिय विहार और बेगमपुर के लोगों की शिकायत है कि जमीन के नीचे से जा रही मेट्रो की वजह से उनके घरों में कंपन होता है.

दिल्ली में मेट्रो की कंपन से दरक जा रही है घरों की दीवारें, लोग परेशान
कंपन के कारण कई घरों के फर्श, दीवारों और छतों पर दरारें भी आ गई हैं. (फाइल फोटो)

दिल्ली: दिल्ली के कुछ इलाकों में जमीन के नीचे से जाती दिल्ली मेट्रो आसपास के लोगों के लिए परेशानी का सबब बन रही है. साउथ दिल्ली के दो इलाकों सर्वप्रिय विहार और बेगमपुर के लोगों की शिकायत है कि जमीन के नीचे से जा रही मेट्रो की वजह से उनके घरों में कंपन होता है. इतना ही नहीं इसकी वजह से कई घरों के फर्श, दीवारों और छतों पर दरारें भी आ गई हैं. इस बात को लेकर ये लोग दिल्ली मेट्रो से भी शिकायत दे चुके हैं. 

दिल्ली के बेगमपुर इलाके में 62 साल के सुरेन्द्र पाल ने कहा कि करीब 7 साल पहले इस इलाके में येलो लाइन मेट्रो चलना शुरु हुआ था. तभी से जब-जब मेट्रो यहां से निकलती है न केवल उसकी आवाज सुनाई पड़ती है बल्कि कंपन भी महसूस होता है. 

 

सिर्फ सुरेन्द्रपाल ही नहीं बल्कि बेगमपुर में रहने वाले तमाम लोगों की यही शिकायत है. लोगों का आरोप है कि लगातार होने वाले कंपन की वजह से घरों के अंदर और बाहर भी दरारें आ गयी है, खासकर देर रात जब आस पास का माहौल शांत होता है उस वक्त कंपन ज़्यादा महसूस होता है. 

बेगमपुर के बाद पॉश कॉलोनी सर्वप्रिय विहार में बने एक नर्सिंग होम में भी जगह-जगह दीवारों और फर्श पर दरारें देखने को मिली. नर्सिंग होम के मालिक डॉक्टर जुनेजा के मुताबिक पिछले साल जब से मेजेंटा लाइन शुरु हुई है उसके बाद से ही ये दरारें आनी शुरु हो गयी हैं. इस तरह की शिकायतों इन इलाकों में कई लोगों की है जिनके घर मेट्रो स्टेशन के आसपास है.

ऐसा नहीं है कि डीएमआरसी को इन मामलों की जानकारी नहीं है. डीएमआरसी के मुताबिक मेट्रो की वजह से वाइब्रेशन की शिकायतें उनके पास कुछ इलाकों से आई है. लेकिन ये पहली नजर में ये वाइब्रेशन सुरक्षित जोन में दिखाई पड़ रहे हैं. डीएमआरसी का दावा है कि इन वाइब्रेशन की वजह से किसी भी निवासी को किसी तरह का खतरा नहीं है. और इस बात की भी उम्मीद नहीं की जा सकती है कि इस तरह के कंपन की वजह से किसी इमारत को किसी तरह का नुकसान पहुंचा हो. हांलाकि डीएमआरसी के अधिकारी इस पूरे मामले पर नज़र बनाये हुये हैं और इस मामले की जांच भी की जा रही है.