तीस हजारी विवाद: वकीलों की हड़ताल जारी, कोर्ट के बाहर भारी संख्या में पुलिसबल तैनात

मौके पर जॉइंट सीपी राजेश खुराना, डीसीपी मोनिका भारद्वाज, एडिशनल डीसीपी डीके गुप्ता के अलावा कई एसीपी, एसएचओ और भारी संख्या में पुलिसकर्मी तैनात हैं. 

तीस हजारी विवाद: वकीलों की हड़ताल जारी, कोर्ट के बाहर भारी संख्या में पुलिसबल तैनात
फाइल फोटो.

नई दिल्ली: दिल्ली के तीस हजारी कोर्ट (Tis Hazari Court) में वकीलों की हड़ताल सोमवार (11 नवंबर) को भी जारी है. कोर्ट के बाहर भारी संख्या में दिल्ली पुलिस (Delhi Police) तैनात है. ताजा जानकारी के मुताबिक, मौके पर जॉइंट सीपी राजेश खुराना, डीसीपी मोनिका भारद्वाज, एडिशनल डीसीपी डीके गुप्ता के अलावा कई एसीपी, एसएचओ और भारी संख्या में पुलिसकर्मी तैनात हैं. 

उधर, दिल्ली हाईकोर्ट के निर्देश के बाद पुलिस और वकीलों के बीच वार्ता शुरू करने के लिए दिल्ली पुलिस (Delhi Police) ने वरिष्ठ अधिकारियों की एक टीम गठित की है. रविवार को उपराज्यपाल की उपस्थिति में दोनों पक्षों की बैठक हुई. बैठक के दौरान चर्चा में दिल्ली पुलिस के अधिकारियों ने कहा कि चूंकि मामले में न्यायिक जांच चल रही है, ऐसे में जांच के निष्कर्ष के आधार पर ही किसी भी आरोपी व्यक्ति के खिलाफ कार्रवाई होनी चाहिए.

उपराज्यपाल ने पुलिस एवं वकीलों से अपील की कि दोनों पक्ष वार्ता जारी रखें और सौहाद्र्रपूर्ण ढंग से विवाद का निपटारा करें. उल्लेखनीय है कि दिल्ली की तीस हजारी अदालत में दो नवंबर को वकीलों और पुलिस के बीच झड़प हो गई थी. इस मामले में चार प्राथमिकी (एफआईआर) दर्ज की गई थी. इस मामले का मानवाधिकार आयोग ने भी संज्ञान लिया है. इस घटना के विरोध में पुलिसकर्मियों ने पुलिस हेडक्वार्टर के सामने प्रदर्शन भी किया था.

क्या है पूरा मामला
तीसहजारी कोर्ट परिसर में पुलिस लॉकअप के पास पार्किंग को लेकर एक वकील से विवाद हो गया था. इस दौरान पुलिस और वकील के बीच झड़प में हिंसा फैल गई और वकीलों ने पुलिस की गाड़ियों में आग लगा दी और महिला अधिकारियों के साथ बदसलूकी भी गई. उल्लेखनीय है कि दिल्ली हाईकोर्ट ने इस मामले की न्यायिक जांच के आदेश दिए थे, जिसकी रिपोर्ट छह हफ्ते में दाखिल करने को कहा है.

ये वीडियो भी देखें: