Breaking News
  • कोरोना पर दिल्‍ली के हालात काबू में, अभी सामुदायिक संक्रमण नहीं: अरविंद केजरीवाल
  • निजामुद्दीन के मरकज से 2346 लोग निकाले गए
  • मरकज के 1810 लोग क्‍वारंटाइन में हैं
  • भारत में कोरोना के 1637 मामले, इनमें से 133 पूरी तरह ठीक होकर घर लौटे
  • दुनिया में कोरोना के 8.62 लाख मामले, इनमें से 42 हजार की मौत

कांग्रेसी नेता ने कहा-केजरीवाल ने दोगुना किया रेवेन्‍यू, दूसरे का जवाब- भाई, पार्टी छोड़ दो

अरविंद केजरीवाल की लगातार जीत के बाद कांग्रेस में एक तरफ जहां खलबली मची हुई है वहीं दूसरी तरफ कुछ नेता आम आदमी पार्टी (आप) की शान में कसीदे पढ़ रहे हैं.

कांग्रेसी नेता ने कहा-केजरीवाल ने दोगुना किया रेवेन्‍यू, दूसरे का जवाब- भाई, पार्टी छोड़ दो

नई दिल्‍ली: दिल्‍ली चुनाव में अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) की लगातार जीत के बाद कांग्रेस में एक तरफ जहां खलबली मची हुई है वहीं दूसरी तरफ कुछ नेता आम आदमी पार्टी (आप) की शान में कसीदे पढ़ रहे हैं. इस कड़ी में कांग्रेस के दो बड़े नेताओं अजय माकन और मिलिंद देवड़ा के बीच ट्विटर पर बहस हो गई. दरअसल मुंबई कांग्रेस के नेता मिलिंद देवड़ा (Milind Deora) ने केजरीवाल सरकार के पिछले पांच साल के कामकाज की तारीफ करते हुए कहा कि इस दौरान राज्‍य सरकार के राजस्‍व में इजाफा हुआ है.

पीसी चाको ने दिल्ली में कांग्रेस की हार के लिए शीला दीक्षित को ठहराया जिम्मेदार, देवड़ा ने लताड़ा

उन्‍होंने कहा, 'आपसे एक ऐसी जानकारी साझा कर रहा हूं जिसे ज्‍यादा लोग नहीं जानते. अरविंद केजरीवाल की सरकार ने पिछले पांच साल में राजस्‍व को दोगुना कर 60 हजार करोड़ रुपये तक पहुंचा दिया है... दिल्‍ली देश में अब आर्थिक रूप से सबसे सक्षम राज्‍यों में शुमार हो गया है.' इस ट्वीट को केजरीवाल ने भी रिट्वीट भी किया लेकिन वरिष्‍ठ कांग्रेस नेता और दिल्‍ली कांग्रेस कमेटी के पूर्व अध्‍यक्ष अजय माकन को देवड़ा का अंदाज पसंद नहीं आया.

अजय माकन ने मिलिंद देवड़ा को जवाब देते हुए दिल्‍ली में कांग्रेस और आम आदमी पार्टी की सरकार के दौर के तुलनात्‍मक आंकड़े पेश किए. उन्‍होंने कहा, 'भाई, यदि आप कांग्रेस छोड़ना चाहते हैं तो कृपया छोड़ दें. उसके बाद इस तरह के कच्‍चे-पक्‍के तथ्‍यों को आराम से पेश करें.' उसके साथ ही आंकड़े शेयर कर बताया कि 1998-2013 के कांग्रेस के शासन के दौरान 14.87 फीसद राजस्‍व में बढ़ोतरी हुई. उसके बाद 2015 से लेकर अब तक आप सरकार के दौरान राजस्‍व के आंकड़े शेयर करते हुए कहा कि इस अवधि में महज 9.90 फीसदी रेवेन्‍यू बढ़ा.

ये वीडियो भी देखें: