close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

उन्नाव रेप: CBI ने इन 4 धाराओं में दर्ज किया मामला, MLA सेंगर समेत 30 लोगों के खिलाफ केस

मामला बीजेपी के पूर्व विधायक कुलदीप सिंह सेंगर से जुड़ा हुआ था, लिहाजा विपक्ष और पीड़िता का परिवार इसे एक सोची समझी साजिश करार दे रहा था. 

उन्नाव रेप: CBI ने इन 4 धाराओं में दर्ज किया मामला, MLA सेंगर समेत 30 लोगों के खिलाफ केस
यूपी सरकार ने इस मामले की जांच भी सीबीआई से कराने की सिफारिश की थी.

नई दिल्ली: उन्नाव रेप केस की पीड़िता की कार एक्सीडेंट के मामले में सीबीआई ने विधायक कुलदीप सिंह सेंगर समेत दस अन्य आरोपियों के साथ बीस अज्ञात लोगों के खिलाफ एफआईआर कर ली गई है. सीबीआई ने डीओपीटी से नोटिफिकेशन मिलने के फौरन बाद सीबीआई ने सभी आरोपियों पर हत्या, हत्या की कोशिश और आपराधिक साजिश की धाराओं के तहत केस दर्ज किया. 

पीड़ित परिवार का आरोप, हादसा नहीं साजिश है
दरअसल, रविवार को यूपी के रायबरेली में ट्रक के साथ हुए एक्सीडेंट में पीड़िता बुरी तरह जख्मी हो गई थी, जबकि रेप केस की दो अहम गवाह और कार ड्राइवर की मौके पर ही मौत हो गई थी. मामला बीजेपी के पूर्व विधायक कुलदीप सिंह सेंगर से जुड़ा हुआ था, लिहाजा विपक्ष और पीड़िता का परिवार इसे एक सोची समझी साजिश करार दे रहा था. 

विपक्षी दलों ने भी की थी सीबीआई जांच की मांग
विपक्ष की मांग को देखते हुए यूपी सरकार ने इस मामले की जांच भी सीबीआई से कराने की सिफारिश की थी, जिसको मानते हुए केंद्र सरकार की डीओपीटी मंत्रालय ने नोटिफिकेशन जारी करके एक्सीडेंट की जांच सीबीआई से कराने का मंजूरी दे दी. घटना की बाद विपक्ष लगातार सरकार पर हमलावर हो रहा था लिहाजा मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की मंजूरी के बाद प्रदेश के गृह विभाग ने घटना के दूसरे ही दिन सोमवार को सीबीआई जांच की सिफारिश करते हुए केंद्र सरकार को पत्र भेजकर सीबीआई जांच की सिफारिश की थी. 

लाइव टीवी देखें

 

केंद्र सरकार ने स्वीकार राज्य सरकार का अनुरोध
केंद्र सरकार ने मंगलवार को यूपी की राज्य सरकार का यह अनुरोध स्वीकार कर लिया है. साथ ही हादसे के संबंध में रायबरेली के गुरुबख्शगंज थाने में क्राइम नंबर 305/2019 पर दर्ज मुकदमे की जांच सीबीआई को ट्रांसफर कर दी. यह मुकदमा धारा 302, 307, 506 और 120 बी के तहत दर्ज किया गया था। रेप पीड़िता ओर गवाहों के साथ हुए इस कार एक्सीडेंट की जांच अब सीबीआई करेगी, इससे पहले वो सिर्फ रेप, किडनैपिंग, पोस्को एक्ट के तहत ही जांच कर रही थी.