close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

उन्नाव केसः कोर्ट ने CBI से पीड़िता के अटेंडेंट और परिवार की सुरक्षा व्यवस्था के बारे में जानकारी मांगी

इससे पहले आरोपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर और शशि सिंह को पेश किया गया था. जिन्हें कोर्ट ने 7 अगस्त तक के लिए तिहाड़ जेल भेज दिया. 

उन्नाव केसः कोर्ट ने CBI से पीड़िता के अटेंडेंट और परिवार की सुरक्षा व्यवस्था के बारे में जानकारी मांगी

नई दिल्लीः  उन्नाव रेप मामले में मंगलवार को दिल्ली की तीस हजारी कोर्ट ने पीडि़ता के परिवार व उसके अटैंडेंट की सुरक्षा, उनके खाने-पीने और रहने की व्यवस्था के बारे में सीबीआई से जानकारी मांगी है. इसके साथ ही कोर्ट ने यूपी के डीजी से इस मामले के गवाहों की सुरक्षा को लेकर रिपोर्ट मांगी है. इसके साथ ही कोर्ट ने आरोपियों से पूछा कि उनके पास कोई वकील है? यदि नहीं है तो उसके बारे में कोर्ट को बताया जाए, ताकि कोर्ट आपको वकील उपलब्ध करवा सके. बता दें कि आज उन्नाव मामले में 8 अन्य आरोपियों को कोर्ट में पेश किया गया था.

इससे पहले आरोपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर और शशि सिंह को पेश किया गया था. जिन्हें कोर्ट ने 7 अगस्त तक के लिए तिहाड़ जेल भेज दिया. 7 अगस्त को आरोप तय करने को लेकर तीस हजारी कोर्ट में बहस होगी. फिलहाल, केस से जुड़े कागजात पूरी तरीके से कोर्ट के पास नहीं पहुंचे है. 

वहीं रायबरेली में एक सड़क हादसे में गंभीर रूप से घायल हुए उन्नाव रेप पीड़िता के वकील को मंगलवार की सुबह लखनऊ एयरपोर्ट से एयरलिफ्ट कर दिल्ली लाया गया है. जिला प्रशासन ने पहले ही इसकी पूरी तैयारी कर ली थी और कड़ी सुरक्षा के बीच पीड़िता के वकील को लखनऊ के केजीएमयू के ट्रॉमा सेंटर से अमौसी एयरपोर्ट लाया गया, जहां बेहतर इलाज के लिए उन्हें एयरलिफ्ट के जरिए दिल्ली के लिए रवाना किया गया है. बता दें इससे पहले बीते सोमवार की देर रात पीड़िता को दिल्ली के एम्स में भर्ती कराया गया था, जिसके बाद आज पीड़िता के वकील को भी एम्स लाया जा रहा है.

बता दें बीते सोमवार को सुप्रीम कोर्ट ने पीड़िता और उनके वकील को बेहतर इलाज के लिए हवाई रास्ते से दिल्ली के एम्स में शिफ्ट कराने के आदेश दिए थे, जिसके बाद कोर्ट के आदेश पर अमल करते हुए पहले सोमवार की देर रात पीड़िता को हवाई रास्ते से दिल्ली लाया गया और मंगलवार की सुबह पीड़िता के वकील को भी एम्स के लिए रवाना किया है. दोनों का इलाज इससे पहले तक लखनऊ के जॉर्ज मेडिकल कॉलेज में चल रहा थआ, जहां पीड़िता के वकील को वेंटिलेटर से हटा दिया गया था, लेकिन पीड़िता की हालत में कोई सुधार न होने के चलते उसे अभी भी वेंटिलेटर पर रखा गया था.

देखें लाइव टीवी

SC का आदेश, उन्‍नाव रेप पीड़िता को इलाज के लिए लखनऊ से एयरलिफ्ट कर दिल्‍ली एम्‍स लाया जाए

बता दें कि रायबरेली जाते हुए पीडि़ता की कार का ट्रक के साथ एक्‍सीडेंट हुआ था. इसमें दोनों पीडि़ता और वकील गंभीर रूप से घायल हुए थे. साथ ही पीडि़ता के रिश्‍तेदारों की मौत हुई थी. पीड़िता और उनके व‍कील को इलाज के लिए किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी के ट्रॉमा सेंटर में चल रहा है.

उन्‍नाव रेप पीड़िता के वकील ने जताई थी हत्‍या की आशंका, मांगा था शस्‍त्र लाइसेंस

बता दें इससे पहले एक पत्र सामने आया था, जो कि रेप पीड़िता के वकील महेंद्र कुमार ने उन्‍नाव के जिलाधिकारी को लिखा था. 15 जुलाई, 2019 को भेजे गए इस पत्र में वकील ने उसे जल्‍द शस्‍त्र लाइसेंस जारी करने की मांग की थी. उसने पत्र में लिखा था कि भविष्‍य में उसकी हत्‍या भी की जा सकती है.