close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

...जब दिल्‍ली पुलिस की टीम ने अपने ही DCP के ऑफिस में मार दिया छापा, पढ़ें पूरा वाकया

Delhi Police : धोखाधड़ी में शामिल एक महिला पुलिसकर्मी समेत कुछ अन्य की मामले में तलाश है.

...जब दिल्‍ली पुलिस की टीम ने अपने ही DCP के ऑफिस में मार दिया छापा, पढ़ें पूरा वाकया
फाइल फोटो

नई दिल्‍ली : अपने ही महकमे के पुलिसकर्मियों को लाखों की चपत लगाने वाले एक जालसाज कॉन्‍स्‍टेबल को दिल्‍ली पुलिस (Delhi Police) ने गिरफ्तार किया गया है. आरोपी की पहचान अनिल कुमार के तौर पर हुई जो मूल रूप से झज्जर हरियाणा (Haryana) का रहने वाला है. वह आउटर डिस्ट्रिक के अकाउंट्स ब्रांच में कार्यरत था. आर्थिक अपराध शाखा की एक टीम ने डीसीपी ऑफिस में दबिश डाल इस पुलिस कॉन्‍स्‍टेबल को पकड़ लिया. उसके साथ धोखाधड़ी में शामिल एक महिला पुलिसकर्मी समेत कुछ अन्य की मामले में तलाश है.

पुलिस की जांच में यह बात सामने आई है कि ये लोग अपने ही साथी पुलिसकर्मियों का बकाया (एरियर) HRA के भुगतान को लूटने-खाने में लगे थे. इस तरह 24 पुलिसकर्मियों के 19 लाख 44 हजार रुपए का गबन कर चुके थे. आरोपी साथी पुलिसकर्मियों के फंड को निजी बैंक के जरिए पत्नी के खाते में डलवा लेता था.

LIVE TV...

आर्थिक अपराध शाखा के एक पुलिस अधिकारी ने बताया आउटर डिस्ट्रिक डीसीपी ऑफिस के अकाउंट्स में भ्रष्टाचार की शिकायतें मिली थीं. पुलिस ने मामले की जांच की तो पाया करीब दो दर्जन पुलिसकर्मियों के ही अलाउंस में लाखों रुपए की हेराफेरी कर उनके साथ जालसाजी की गई. मंगलवार को पुलिस की टीम ने आउटर डिस्ट्रिक के डीसीपी ऑफिस में रेड डाली, जहां से आरोपी पुलिस कॉन्‍स्‍टेबल को हिरासत में ले लिया गया. हालांकि इस दौरान कुछ संदिग्ध पुलिसकर्मी मौका देख वहां से चंपत हो गए.

आरोपी कॉन्‍स्‍टेबल की भूमिका गलत पाए जाने की बात पुख्ता होने पर उसके खिलाफ आर्थिक अपराध शाखा (Economic Offence Wing) में केस दर्ज कर उसे गिरफ्तार कर लिया गया. पुलिस कमिश्नर अमूल्य पटनायक की ओर से साफ आदेश है कि जो भी कोई भ्रष्ट पुलिसकर्मी हो उसे कतई नहीं बख्शा जाए. इस मामले की जांच अब अपने स्तर पर विजिलेंस विभाग को भी सौंपी गई है. पुलिस सूत्रों का यह भी कहना है कि एक महिला पुलिसकर्मी को भी हिरासत में लिया गया है, जिससे पूछताछ कर उसकी भूमिका को भी जांचा जा रहा है. पुलिस यह पता लगाने की कोशिश कर रही है कि ये लोग इस जालसाजी के धंधे में कब से लगे हुए थे.