Zee Rozgar Samachar

मिंटो ब्रिज जलभराव से हुई मौत का जिम्मेदार कौन? तय करने के लिए बैठकों का दौर जारी

समिति की आज हुई बैठक में CPWD के अधिकारी, जल बोर्ड के अधिकारी, दिल्ली के तीनों MCD के प्रमुखों और NDMC चेयरमैन को बुलाया गया था. लेकिन सभी ने मिंटो ब्रिज के नीचे जलभराव से हुई एक व्यक्ति की मौत के लिए अपने को पाक साफ करार दिया. 

मिंटो ब्रिज जलभराव से हुई मौत का जिम्मेदार कौन? तय करने के लिए बैठकों का दौर जारी
(फाइल फोटो)

नई दिल्ली: देश की राजधानी दिल्ली (Delhi) में जलभराव (Waterlogging) से एक व्यक्ति की मौत हो जाती है, लेकिन उसके लिए कौन जिम्मेदार है? ये अभी तक तय नहीं हो पाया है. यहां तक कि केंद्रीय शहरी विकास मंत्रालय (Ministry of Urban Development) से संबंधित संसदीय समिति (स्‍टैंडिंग कमेटी) की आज हुई बैठक में भी इसका हल नहीं निकल पाया.

सूत्रों के अनुसार समिति की आज हुई बैठक में CPWD के अधिकारी, जल बोर्ड के अधिकारी, दिल्ली के तीनों MCD के प्रमुखों और NDMC चेयरमैन को बुलाया गया था. लेकिन सभी ने मिंटो ब्रिज (Minto Bridge) के नीचे जलभराव से हुई एक व्यक्ति की मौत के लिए अपने को पाक साफ करार दिया. 

मौजूद सभी संस्थाओं ने एक दूसरे पर इसका ठीकरा फोड़ते हुए कहा कि ये मामला हमारे विभाग के अंतर्गत नहीं आता. दिल्ली MCD के अधिकारियों ने कहा कि मिंटो ब्रिज के नीचे का रोड दिल्ली PWD के अंतर्गत आता है.

सूत्रों के मुताबिक अब कमेटी के चेयरमैन जगदंबिका पाल ने इसकी जिम्मेदारी तय करने के लिए अगले सप्ताह बैठक बुलाने का फैसला लिया है. जिसमें आज मौजूद संस्थाओं के अलावा दिल्ली के मुख्य सचिव, दिल्ली शहरी विकास मंत्रालय और केंद्रीय गृह मंत्रालय के अधिकारियों के अलावा दिल्ली PWD के अधिकारियों को भी बुलाया जाएगा. 

अगली मीटिंग में अधिकारियों को दिल्ली में बाढ़ जैसे हालात और जलजमाव ना हो इसके लिए प्रेजेंटेशन भी देने को कहा जाएगा. 

सूत्रों के अनुसार आज की बैठक में जलभराव का मामला उठाते हुए बीजेपी सांसद गौतम गंभीर (Gautam Gambhir) ने कहा कि तीन महीने के लॉकडाउन में आखिर क्या तैयारी की गई कि जलभराव से एक व्यक्ति की मौत तक हो गई.

आज की बैठक में समिति के मौजूदा 27 सदस्यों में से 10 सदस्य मौजूद थे, जिसमें आम आदमी पार्टी के संजय सिंह भी थे.

ये भी देखें-

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.