close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

MCD चुनाव: आप की करारी हार पर योगेंद्र यादव ने कहा-दिल्ली ने CM को खारिज कर PM को चुना

दिल्ली नगर निगम चुनाव में आम आदमी पार्टी की करारी हार पर स्वराज इंडिया के संस्थापक और केजरीवाल के पूर्व सहयोगी योगेंद्र यादव ने बुधवार को कहा कि एमसीडी चुनाव में लोगों ने मुख्यमंत्री को खारिज कर दिया है और पीएम मोदी को चुन लिया है. यादव ने कहा कि लगता है कि आप के नेता मत तो हारे साथ में मति भी हार गए हैं.

MCD चुनाव: आप की करारी हार पर योगेंद्र यादव ने कहा-दिल्ली ने CM को खारिज कर PM को चुना
योगेंद्र यादव ने कहा कि दिल्ली के लोगों ने केजरीवाल को खारिज किया. फाइल फोटो

नई दिल्ली : दिल्ली नगर निगम चुनाव में आम आदमी पार्टी की करारी हार पर स्वराज इंडिया के संस्थापक और केजरीवाल के पूर्व सहयोगी योगेंद्र यादव ने बुधवार को कहा कि एमसीडी चुनाव में लोगों ने मुख्यमंत्री को खारिज कर दिया है और पीएम मोदी को चुन लिया है. यादव ने कहा कि लगता है कि आप के नेता मत तो हारे साथ में मति भी हार गए हैं.

मीडिया रिपोर्टों के मुताबिक यादव ने कहा कि एमसीडी चुनाव में लोगों ने मुख्यमंत्री केजरीवाल को खारिज कर दिया और प्रधानमंत्री को चुन लिया. यादव ने कहा कि आप के नेता इस चुनाव में मति तो हारे, साथ में मति भी हार रहे हैं. 

एमसीडी चुनाव में अपनी पार्टी स्वराज इंडिया के खराब प्रदर्शन पर योगेंद्र ने कहा, 'उनकी पार्टी बहुत उम्मीद लेकर नहीं चल रही थी लेकिन हमने उम्मीद से कम प्रदर्शन किया है. हमें आत्ममंथन करने की जरूरत है.'

और पढ़ें : MCD Election Results 2017 : भाजपा ने लगाई हैट्रिक, तीनों एमसीडी पर फिर से किया कब्जा

केजरीवाल के पूर्व सहयोगी प्रशांत भूषण ने भी आप की हार पर प्रतिक्रिया दी. भूषण ने कहा कि दो साल पहले विधानसभा चुनाव में शानदार प्रदर्शन करने वाली आप एमसीडी चुनाव में फिसड्डी साबित हो गई. भूषण ने कहा कि हार के लिए ईवीएम को दोष देना गलत है. उन्होंने कहा कि आप को यह जरूर अहसास करना होगा कि एमसीडी चुनाव में उसे भारी शिकस्त का सामना करना पड़ा है क्योंकि उसने स्वच्छ, पारदर्शी और जवाबदेह राजनीति के प्रति जो वादा किया था, उसके साथ उसने धोखा किया.

गौरतलब है कि बुधवार को आए एमसीडी के नतीजों में आप पार्टी की भारी हार हुई. एमसीडी चुनाव को केजरीवाल की लोकप्रियता पर जनमत संग्रह के रूप में देखा जा रहा था. दिल्ली के तीनों नगर निगमों में भाजपा की भारी जीत हुई है. 270 सीटों पर हुए चुनाव में भाजपा को 185 सीटें, कांग्रेस को 28 और आप को 46 सीटें मिलीं. जबकि 11 वार्डों पर अन्य विजयी हुए. भाजपा ने तीसरी बार दिल्ली नगर निगम पर कब्जा किया है.

और पढ़ें : दिल्ली MCD चुनाव में जीत पर PM मोदी ने जनता का शुक्रिया अदा किया