close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

दिल्ली पुलिस ने सुलझाई गार्ड की हत्या की गुत्थी, UPSC की तैयारी करने वाला छात्र गिरफ्तार

आरोपी ने पुलिस को बताया कि मारना था ऑटोवाले को लेकिन हत्या कर दी सिक्योरिटी गार्ड की.

दिल्ली पुलिस ने सुलझाई गार्ड की हत्या की गुत्थी, UPSC की तैयारी करने वाला छात्र गिरफ्तार
आरोपी बेंजी मणिपुर का रहने वाला है और वो दिल्ली में रहकर UPSC की तैयारी कर रहा था.

नई दिल्लीः राजधानी के हुमायूंपुर में हुई गार्ड की हत्या की गुत्थी सुलझाते हुए पुलिस ने बेंजी नाम के एक शख्स को गिरफ्तार किया है. बेंजी एक ऑटो वाले की हत्या करने आया था लेकिन उस वक़्त ऑटो में एक सिक्योरिटी गार्ड लेटा हुआ था जिसे ऑटो वाला समझ कर उसने बिना पहचाने गार्ड की हत्या कर दी. दरअसल पुलिस को सूचना मिली कि एम्स ट्रॉमा सेंटर में 65 साल के रामबहादुर को घायल हालात में लाया गया है. रामबहादुर के परिवार ने बताया कि किसी अज्ञात शख्स ने धारदार हथियार से उस पर हमला किया है.

रामबहादुर सफदरजंग एन्क्लेव की एक कॉलोनी में बतौर गार्ड की नौकरी कर रहा था. पुलिस ने इस मामले में हत्या का केस दर्ज कर जांच शुरू की और आसपास के सीसीटीवी फुटेज देखे. दूसरे गार्डों से पूछताछ की तो एक शख्स पर संदेह हुआ और बाद में पुलिस ने बेंजी नाम के आरोपी को गिरफ्तार कर लिया. बेंजी मणिपुर का रहने वाला है और वो दिल्ली में रहकर UPSC की तैयारी कर रहा था.

आरोपी ने पुलिस को बताया कि कुछ दिन पहले उसका एक ऑटो वाले से झगड़ा हुआ था. जिसके  बाद उसने ऑटो वाले को सबक सिखाने की ठान ली थी. बुधवार की सुबह तड़के सफदरजंग एन्क्लेव के हुमायूंपुर इलाके में उसे वो ही ऑटो दिखा. बेंजी ने समझा कि ऑटो में वही ऑटो वाला लेटा है और उसने बिना पहचान किये सिक्योरिटी गार्ड के गर्दन पर चाकू से हमला कर दिया. जिससे उसकी बाद में मौत हो गई. 

साउथ डिस्ट्रिक्ट के डीसीपी ने ज़ी न्यूज़ को बताया कि ' कुछ दिन पहले हुए झगड़े के बाद आरोपी ने ऑटो वाले से बदला लेने की ठान ली थी इसी वजह से जब उसने ऑटो में लेटे हुए रामबहादुर को देखा तो बिना पहचाने उस पर धारधार चीज़ से हमला कर दिया, सीसीटीवी फुटेज और लोगों के बयान के बाद हमने बेंजी नाम के लड़के को गिरफ्तार कर लिया है'

पुलिस ने क़त्ल के आरोप में आरोपी को भले ही गिरफ्तार कर लिया है लेकिन एक लड़के की सनक की वजह से एक गार्ड की नॉकरी करने वाले रामबहादुर का सोच रहा है कि आखिर रामबहादुर की क्या गलती थी जो उसे मौत के घाट उतार दिया.