गौतम गंभीर ने किया पलटवार, 'मुझे गाली देने से प्रदूषण कम होता है तो जी भरकर दें'

पूर्वी दिल्ली से बीजेपी सांसद गौतम गंभीर इन दिनों इंदौर में चल रहे भारत-बांग्लादेश के टेस्ट मैच में कमेंट्री कर रहे हैं.

गौतम गंभीर ने किया पलटवार, 'मुझे गाली देने से प्रदूषण कम होता है तो जी भरकर दें'
प्रदूषण पर प्रस्तावित बैठक से गैरहाजिर सांसद गौतम गंभीर इंदौर में पोहा-जलेबी चख रहे थे.

नई दिल्‍ली: राष्ट्रीय राजधानी (Delhi-NCR) में वायु प्रदूषण (Air Pollution) को लेकर राजनीतिक दलों का एक-दूसरे पर आरोप-प्रत्यारोप का दौर जारी है. इसी बीच पूर्वी दिल्ली से बीजेपी सांसद गौतम गंभीर (Gautam Gambhir) आम आदमी पार्टी (आप) समेत दूसरे दलों के निशाने पर आ गए. आलोचनाओं से घिरे पूर्व क्रिकेटर ने आप पर निशाना साधते हुए ट्विटर पर बयान जारी किया. गंभीर ने लिखा, ''मेरा काम खुद बोलेगा! अगर मुझे गाली देने से दिल्ली का प्रदूषण कम होता है तो AAP मुझे जी भरकर गाली दीजिए.'

पोहा-जलेबी चखते हुए नजर आए गंभीर
दरअसल, दिल्‍ली-एनसीआर में प्रदूषण के खतरनाक हालात में पहुंचने पर शुक्रवार को संसदीय समिति की बैठक रखी गई थी. शहरी विकास मंत्रालय से संबंधित संसदीय समिति की इस मीटिंग में कई सांसद और तीनों नगर निगमों (MCD) के मुखिया ही नहीं पहुंचे. इसी बीच, भारत-बांग्लादेश टेस्ट क्रिकेट मैच में कमेंट्री करने पहुंचे गौतम गंभीर की एक तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल हुई, जिसमें वह अपने साथियों वीवीएस लक्ष्मण और जतिन सप्रू के साथ इंदौरी पोहे-जलेबी चखते हुए नजर आ रहे थे. इसको लेकर आम आदमी पार्टी ने गंभीर पर तंज कसते हुए ट्विटर पर लिखा, ''क्या कमेंट्री बॉक्स तक ही सीमित है प्रदूषण को लेकर गंभीरता?''

चेयरमैन जगदंबिका पाल नाराज
बता दें कि बैठक में सिर्फ चार सांसद जगदंबिका पाल, हसनैर मसूदी, सी आर पाटिल और संजय सिंह ही शामिल हुए. जबकि पर्यावरण मंत्रालय की तरफ से डिप्टी सेक्रेटरी लेवल के अधिकारी ही पहुंचे. और तो और डीडीए (DDA) की तरफ से भी जूनियर अधिकारी ही आए. बड़े अधिकारियों के बैठक में न पहुंचने से इस बैठक को टालना पड़ा. संबंधित संसदीय समिति के चेयरमैन जगदंबिका पाल इस बात से बेहद नाराज हो गए. अब उनकी तरफ से लोकसभा के स्पीकर को पत्र लिखा जाएगा.

दुनिया का सबसे प्रदूषित शहर
दिल्ली-एनसीआर के लोगों को शनिवार सुबह भी प्रदूषण (Pollution) से कोई राहत नहीं मिली है. प्रदूषण खरतनाक स्तर पर बना हुआ है. दिल्ली (Delhi) में पीएम 2.5  का लेवल 505 तक पहुंच गया है. एनसीआर (NCR) के बाकी इलाकों में भी हालात बहुत खराब है. बता दें विश्व वायु गुणवत्ता सूचकांक रैंकिंग पर एयर विजुअल के आंकड़ों के मुताबिक, दिल्ली ने शुक्रवार को 527 एआईक्यू के साथ दुनिया का सबसे प्रदूषित शहर होने का दर्जा प्राप्त कर लिया था.