West Bengal में बाकी बचे चरणों के चुनाव एक साथ होंगे या नहीं? EC ने दिया ये जवाब

राज्य में तेजी से बढ़ती कोरोना मरीजों की संख्या के मद्देनजर TMC सुप्रीमो ममत बनर्जी ने बाकी बचे चरणों के चुनाव को एक साथ कराने की बात कही थी. इसपर बैठक करने के बाद आज चीफ इलेक्शन ऑफिसर ने जवाब दिया है.

West Bengal में बाकी बचे चरणों के चुनाव एक साथ होंगे या नहीं? EC ने दिया ये जवाब

कोलकाता: पश्चिम बंगाल में बचे हुए चरणों के मतदान (West Bengal Assembly Election 2021) में कोई बदलाव नहीं होगा. यह बात मुख्य चुनाव अधिकारी (CEO) कार्यालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने शुक्रवार को राजनीतिक दलों के साथ हुई बैठक के बाद कही.

ममता ने की थी चुनाव एकसाथ कराने की अपील

CEO आरिज आफताब ने सभी राजनीतिक दलों के साथ हुई बैठक में बचे हुए चरणों के लिए मास्क लगाने और दो गज की दूरी का पालन करने सहित कोविड-19 से जुड़े सभी प्रोटोकॉल का कड़ाई से पालन करने को कहा है. राज्य में फिलहाल कोरोना वायरस (Coronavirus) संक्रमण की दूसरी लहर चल रही है. इसके मद्देनजर मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) ने अंतिम तीन चरणों के मतदान को एक साथ जोड़कर कराने की मांग की थी. 

मतदान केंद्रों पर सोशल डिस्टेंसिंग करने का निर्देश

अधिकारी ने बताया, ‘यह बैठक चुनावी कार्यक्रम में बदलाव के लिए नहीं बुलाई गई थी. हालांकि, हमें एक राजनीतिक दल की ओर से ऐसा अनुरोध प्राप्त हुआ था. बचे हुए तीन चरणों के मतदान के कार्यक्रम में बदलाव का कोई फैसला नहीं किया गया है.’ सर्वदलीय बैठक में मतदान केन्द्रों पर दो गज की दूरी का कड़ाई से पालन करने की जरुरत पर भी बल दिया गया.

ये भी पढ़ें:- इस राज्य में भी कोरोना वैक्सीन का स्टॉक खत्म? सीएम ने पीएम मोदी से मांगी मदद

रैलियों में शामिल लोगों को देना होगा मास्क

उन्होंने बताया, ‘सभी राजनीतिक रैलियों में मास्क लगाना, पर्याप्त मात्रा में सैनिटाइजर रखना अनिवार्य किया गया है. प्रोटोकॉल के किसी भी उल्लंघन से कड़ाई से निपटा जाएगा. कानून के अनुसार फौजदारी कार्रवाई की जाएगी.’ अधिकारी ने बताया कि जनसभाओं और रैलियों में शामिल होने वाले सभी लोगों को आयोजकों को अपने खर्च पर मास्क और सैनिटाइजर मुहैया कराना होगा.

ये भी पढ़ें:- बदल गए LIC के नियम, अगर आपके पास भी है पॉलिसी तो जरूर पढ़े ये खबर

हाई कोर्ट के आदेश पर आयोजित हुई बैठक

गौरतलब है कि कलकत्ता हाई कोर्ट के निर्देश पर मुख्य चुनाव अधिकारी ने सर्वदलीय बैठक बुलाई थी. अदालत ने बचे हुए चरणों के चुनाव के लिए प्रचार के दौरान कोविड-19 प्रोटोकॉल का कड़ाई से पालन सुनिश्चित कराने का निर्देश दिया था. राज्य की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी द्वारा पिछले दिनों शेष चरणों के लिए मतदान एक ही बार में कराने का सुझाव दिए जाने के बाद तृणमूल कांग्रेस महासचिव पार्थ चटर्जी ने मुख्य निर्वाचन अधिकारी आरिज आफताब के साथ एक बैठक में अंतिम तीन चरणों के मतदान एकसाथ कराने की मांग की थी.

LIVE TV

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.