close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

शशिकला के भतीजे दिनाकरन के खिलाफ FIR दर्ज, चुनाव चिह्न के लिए घूस देने का आरोप

एआईएडीएमके नेता शशिकला के भतीजे के खिलाफ केस दर्ज हो गया है. अनाद्रमुक के उप महासचिव टीटीवी दिनाकरन के खिलाफ दिल्ली पुलिस ने मामला दर्ज किया.  

शशिकला के भतीजे दिनाकरन के खिलाफ FIR दर्ज, चुनाव चिह्न के लिए घूस देने का आरोप
अनाद्रमुक के उप महासचिव टीटीवी दिनाकरन के खिलाफ दिल्ली पुलिस ने मामला दर्ज किया.

नई दिल्ली: पुलिस की क्राइम ब्रांच ने एआईएडीएमके नेता शशिकला के भतीजे टीटीवी दिनाकरन के खिलाफ भ्रष्टाचार और साजिश का केस दर्ज किया है और एक बिचौलिए सुकेश चंद्रशेखर को 1 करोड़ 30 लाख रुपये के साथ दिल्ली के होटल से गिरफ्तार किया है. 

अन्नाद्रमुक के उपमहासचिव दिनाकरन के खिलाफ आज मामला दर्ज 

दिल्ली पुलिस की अपराध शाखा ने आर के नगर विधानसभा सीट के उपचुनाव में ‘दो पत्तियों’ वाला चुनाव चिह्न प्राप्त करने के लिए निर्वाचन आयोग के अधिकारियों को रिश्वत देने की कथित कोशिश करने के संबंध में अन्नाद्रमुक के उपमहासचिव टी टी वी दिनाकरन के खिलाफ आज मामला दर्ज किया.

चुनाव चिन्ह के लिए घूस देने का आरोप

दिनकरन के खिलाफ कल यहां एक पांच सितारा होटल से एक बिचौलिए सुकेश चंद्रशेखर की गिरफ्तार के बाद मामला दर्ज किया गया है. दिनकरन जेल में बंद वी के शशिकला के नेतृत्व वाले अन्नाद्रमुक के धड़े के एक नेता हैं.

एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने कहा, ‘यह पता चला है कि सुकेश ने दो पत्तियों वाला चुनाव चिह्न अन्नाद्रमुक के इस धड़े को दिलाने में मदद करने के लिए 50 करोड़ रुपए का सौदा किया था. पुलिस ने सुकेश के पास से 1.30 करोड़ रुपए और दो कारें जब्त की हैं. उन्होंने कहा कि सुकेश की प्रोफाइल और ईसी अधिकारियों के साथ उसके संबंधों का पता लगाने के लिए पूछताछ की जा रही है.

‘दो पत्ती’ पर दोनों धड़ों किया था दावा

शशिकला के नेतृत्व वाले धड़े और पूर्व मुख्यमंत्री ओ पनीरसेल्वम ने ‘दो पत्ती’ पर दावा किया था जिसके बाद निर्वाचन आयोग ने अन्नाद्रमुक का यह चुनाव चिह्न सील कर दिया था. आय से अधिक संपत्ति मामले में जेल में बंद शशिकला के नेतृत्व वाले धड़े ने बाद में ‘हैट’ चुनाव चिह्न चुना था.

दिनकरन शशिकला धड़े के उम्मीदवार थे

तमिलनाडु में आर के नगर विधानसभा क्षेत्र का उपचुनाव 12 अप्रैल को होना था लेकिन निर्वाचन आयोग ने इसे रद्द करते हुए कहा था कि पार्टियों ने धन बल का इस्तेमाल करके चुनावी प्रक्रिया का ‘गंभीर उल्लंघन’ किया. दिनकरन शशिकला धड़े के उम्मीदवार थे. तत्कालीन मुख्यमंत्री जे जयललिता के पांच दिसंबर को निधन के बाद यह सीट खाली हो गई थी और यह उपचुनाव अन्नाद्रमुक के दोनों धड़ों के बीच प्रतिष्ठा का प्रश्न बन गया था.