TikTok ने 60 वर्षीय दिव्यांग को परिवार से मिलवाया, दो साल पहले बिछड़ गया था शख्स

तेलंगाना से दो साल पहले गुमशुदा हुए 60 वर्षीय दिव्यांग आर. वेंकटेश्वरलु के पंजाब में होने का पता टिकटॉक पर डाले गए एक वीडियो के जरिए चला. 

TikTok ने 60 वर्षीय दिव्यांग को परिवार से मिलवाया, दो साल पहले बिछड़ गया था शख्स
टिकटॉक ने एक दिव्यांग को अपने परिवार से मिला दिया.

हैदराबाद: बेहद लोकप्रिय वीडियो शेयरिंग ऐप टिकटॉक (TikTok) अक्सर विवादों में रहता है. विवादों के चलते इसकी रेटिंग भी गिर गई है. लेकिन फिलहाल इससे जुड़ी एक अच्छी खबर आई है. टिकटॉक ने एक बिछड़े हुआ दिव्यांग व्यक्ति को अपने परिवार से मिलवा दिया. 

तेलंगाना से दो साल पहले गुमशुदा हुए 60 वर्षीय दिव्यांग आर. वेंकटेश्वरलु के पंजाब में होने का पता टिकटॉक पर डाले गए एक वीडियो के जरिए चला. आर वेंकटेश्वरलु भद्रदरी-कोटगुड़म जिले से अप्रैल 2018 में लापता हो गए थे. मूक-बधिर होने की वजह से वो अपने परिवार से अब तक बिछड़े हुए थे. लेकिन उनके बेटे और बेटी ने टिकटॉक पर उनका एक वीडियो देखा जिसमें कोई उन्हें खाना दे रहा था. 

ये भी पढ़ें- सावधान! TikTok पर आपत्तिजनक वीडियो डाला, तो हमेशा के लिए हो जाएंगे बैन!

वीडियो लुधियाना के एक कांस्टेबल ने पोस्ट किया था. इसलिए वेंकटेश्वरलु के बेटे पेड्डीराजू ने लुधियाना पुलिस से संपर्क किया. पुलिस ने लुधियाना में वेंकटेश्वरलु की लोकेशन ट्रेस की और उसे ढूंढ लिया. पुलिस ने वेंकटेश्वरलु के परिवार से वीडियो कॉल से संपर्क किया जिसके जरिए परिवार ने उन्हें पहचान लिया. 

ये भी पढ़ें- TikTok पर वीडियो बनाते समय भूलकर भी न करें ये गलतियां, हो सकती है कार्रवाई

लॉकडाउन के चलते वेंकटेश्वरलु के बेटे पेड्डीराजू को स्पेशल पास उपलब्ध करवाया गया, और वो अपने पिता को वापस लाने कि लिए लुधियाना पहुंचा. बेटा अपने पिता को घर वापस ले आया. परिवार ने खुशी जताते हुए उन सभी को धन्यवाद दिया जिन्होंने वेंकटेश्वरलु को अपने परिवार से मिलाने में मदद की. 

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.