नेत्रहीनों के लिए खुशखबरी, अब आंख बनेगा 'दिव्य नयन', पढ़ने में नहीं होगी कोई दिक्कत

वैज्ञानिक और औद्योगिक अनुसंधान परिषद (सीएसआईआर) ने दृष्टिहीनों लिए एक ऐसा डिवाइस विकसित किया है जो पढ़कर सुना सकता है.

नेत्रहीनों के लिए खुशखबरी, अब आंख बनेगा 'दिव्य नयन', पढ़ने में नहीं होगी कोई दिक्कत

नई दिल्ली: दृष्टिबाधित या कमजोर नजर वालों के लिए बड़ी खबर है. भारत सरकार के अंतर्गत आने वाली एजेंसी वैज्ञानिक और औद्योगिक अनुसंधान परिषद (सीएसआईआर) और सेंट्रल इलेक्ट्रॉनिक्स लिमिटेड (CEL) ने एक डिवाइस बनाई है, जिसे किसी भी पेपर पर रख दो तो वह पेपर को स्कैन कर लेती है और लिखे हुए शब्दों को बोल कर सुनाती है. इस डिवाइस का नाम दिव्य नयन है. यानि ऐसे सभी लोग नॉर्मल अखबार, फाइल, किताब पढ़ सकेंगे. इसके लिए ब्रेल लिपि की जरूरत नहीं होगी.

इस डिवाइस को बनाने के लिए वैज्ञानिक 13 साल से कोशिश कर रहे थे. चंडीगढ़ के डायरेक्टर आरके सिन्हा के मुताबिक 'हिंदी अंग्रेजी पंजाबी बंगाली तेलुगु तमिल मलयालम कन्नड भाषा में लिखे शब्द ये डिवाइस फिलहाल पढ़ सकती है. देश-दुनिया की सभी भाषाओं को पढ़ने वाली डिवाइस लाने की योजना पर काम चल रहा है.'

वैज्ञानिकों को इसे बनाने में सबसे बड़ी परेशानी इस बात की थी कि जब डिवाइस हिंदी में पढ़ कर बताती थी तो उसका एक्सेंट ऐसा रहता था जिस तरह अंग्रेजी बोली जाती है. इसी तरह बाकी भारतीय भाषाओं का भी एक्सेंट अंग्रेजी जैसा ही रहता था. इस परेशानी को दूर करने में बहुत समय लगा. 

यह भी देखें:-

सेंट्रल इलेक्ट्रॉनिक्स लिमिटेड (CEL) के चेयरमैन बीएन सरकार के मुताबिक 'इस तरह की मशीनें ही बनाई गई और इसे दृष्टिहीन लोगों को दिया गया था ताकि वो इसके बारे में फीडबैक दे सकें. एक फीडबैक आया कि ये डिवाइस ऑफ लाइन होने पर स्कैन करने के बाद थोड़ा सा टाइम ले रही है, जिसे दूर किया गया और इसे और भी फास्ट बनाया जा रहा है."

डिवाइस दिव्य नयन की एक बार बैटरी चार्ज होने पर ये 40 ए-4 साइज़ पेपर स्कैन करके पढ़ सकती है. ये डिजिटल डॉक्यूमेंट पीडीएफ फाइल भी पढ़ सकती है. इसका वजन 350 ग्राम है और इसे कहीं भी ले जाया जा सकता है. हालांकि इसकी कीमत का अभी खुलासा नहीं किया जा रहा है. जल्द ही ये सरकारी दफ्तरों और खुले बाज़ार में भी दिखाई देगी.

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.