close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

जल संकट के मुद्दे पर द्रमुक ने दी 'जेल भरो' आंदोलन की चेतावनी

द्रमुक नेता ने कहा कि 28 जून को विधानसभा का सत्र आहूत किया गया है और सरकार बदलने के लिए चुनाव कराने की कोई जरूरत नहीं है.

जल संकट के मुद्दे पर द्रमुक ने दी 'जेल भरो' आंदोलन की चेतावनी
पार्टी ने राज्य में व्याप्त जलसंकट को लेकर यहां प्रदर्शन भी किया.

नई दिल्ली: द्रविड़ मुनेत्र कषगम (द्रमुक) प्रमुख एम के स्टालिन ने सोमवार को कहा कि अगर सत्तारूढ़ पलानीस्वामी सरकार प्रदेश में व्याप्त जल संकट से ठीक से नहीं निपटती है तो उनकी पार्टी 'जेल भरो' आंदोलन शुरू करेगी.

पार्टी ने राज्य में व्याप्त जलसंकट को लेकर यहां प्रदर्शन भी किया. स्टालिन ने इस अवसर पर कहा, 'अन्नाद्रमुक के लोग सरकार में अपने पद सुरक्षित करने के लिए यज्ञ कर रहे हैं, न कि वर्षा के देवों को खुश करने के लिए'.

वहीं, अन्नाद्रमुक नेता डी जयकुमार ने कहा कि इस प्रदर्शन को लोगों का समर्थन नहीं मिलेगा. स्टालिन ने विरोध प्रदर्शन में एक मटका उठाकर कहा, 'बर्तन यहां है पर पीने का पानी कहां है'.

द्रमुक नेता ने कहा कि 28 जून को विधानसभा का सत्र आहूत किया गया है और सरकार बदलने के लिए चुनाव कराने की कोई जरूरत नहीं है. इस बात की संभावना है कि यह पहले ही हो जाए.