मेट्रो में सफर करना है तो और ढीली करनी होगी जेब, किराए में 33% का इजाफा

सफर के मामले में पॉकेट फ्रेंडली मानी जाने वाली मेट्रो अब आपकी जेब और ढीली करेगी. मेट्रो के किराए में 20 से 33 प्रतिशत की बढ़ोतरी की तैयारी कर ली गई है.

मेट्रो में सफर करना है तो और ढीली करनी होगी जेब, किराए में 33% का इजाफा
दिल्ली मेट्रो का बढ़ा किराया (फोटो- Zee)

नई दिल्ली: सफर के मामले में पॉकेट फ्रेंडली मानी जाने वाली मेट्रो अब आपकी जेब और ढीली करेगी. मेट्रो के किराए में 20 से 33 प्रतिशत की बढ़ोतरी की तैयारी कर ली गई है. ये नई दरें एक अक्टूबर से लागू हो जाएंगी. पहले चरण में किराया बढ़ने के बाद मेट्रो यात्रियों की संख्या कम हो गई थी. बावजूद इसके डीएमआरसी ने मेट्रो के किराए में फिर से वृद्धि की है. फिलहाल न्यूनतम किराया 10 रुपये और अधिकतम 50 रुपये निर्धारित है, लेकिन एक अक्टूबर से अधिकतम किराया बढ़कर 60 रुपये हो जाएगा.

डीएमआरसी की जानकारी के अनुसार, मेट्रो में सफर के लिए अब 2 किलोमीटर तक के लिए 10 रुपये, 2 से 5 तक के लिए 20 रुपये देने होंगे. पहले 5 किमी के लिए 15 रुपये देने पड़ते थे. इसी तरह 5 से 12 किमी तक के लिए अब 20 रुपये की जगह 30 रुपये देने होंगे.

ये भी पढ़ें- मेट्रो में यात्रियों के माचिस, लाइटर ले जाने को बैन करें : दिल्ली सरकार ने DMRC से कहा

12 से 21 किलोमीटर तक के लिए पहले 30 रुपये किराया लगता था. लेकिन इसमें अब 10 रुपये बढ़ जाएंगे, जिसके बाद आपको 40 रुपये का भुगतान करना होगा. 21 से 32 किमी के लिए भी दरें बढ़ गई हैं. इस दूरी के लिए अब 40 रुपये की जगह 50 रुपये देने होंगे. यदि आप 32 किलोमीटर से ज्यादा का सफर करते हैं तो इस सूरत में आपको 60 रुपये किराए के रूप में देने होंगे. ये राशि पहले 50 रुपये थी.

ये भी पढ़ें- बंदर ने की दिल्ली मेट्रो की सवारी, आपने ये वायरल VIDEO देखा क्या?

दिल्ली मेट्रो रेल निगम के एक सर्वे में ये बात सामने आई थी कि हर महीने 10 से 30 हजार तक कमाई करने वाले लोग ही मेट्रो का ज्यादा सफर करते हैं. क्योंकि ये उनकी जेब पर बोझ नहीं बढ़ाता. लेकिन पहले चरण में रेट बढ़े तो मेट्रो यात्रियों की संख्या में भी कमी आ गई. ऐसे में लोग नई दरों के बाद यात्री संख्या और गिरने की आशंका जता रहे हैं.