DNA ANALYSIS: अंकित शर्मा की पोस्टमार्टम रिपोर्ट किसी के भी रोंगटे खड़े कर सकती है

रिपोर्ट के मुताबिक अंकित शर्मा के शरीर के हर हिस्से को चाकुओं से गोदा गया था और उनकी आंतों तक को बाहर निकाल लिया गया.

DNA ANALYSIS: अंकित शर्मा की पोस्टमार्टम रिपोर्ट किसी के भी रोंगटे खड़े कर सकती है

सबसे पहले हम आपको बता दें कि Zee News  की मुहिम रंग लाई है. कल हमने दिल्ली के दंगों में आम आदमी पार्टी के पार्षद ताहिर हुसैन की भूमिका के बारे में आपको बताया था. और आज ताहिर हुसैन के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कर लिया गया है और उनकी फैक्ट्री और दुकान को भी सील कर दिया गया है. वहीं दिल्ली हिंसा में मारे गए आईबी के कर्मचारी अंकित शर्मा की पोस्टमार्टम रिपोर्ट आ गई है. रिपोर्ट में में दी गई जानकारियां किसी के भी रोंगटे खड़े कर सकती है. रिपोर्ट के मुताबिक अंकित शर्मा के शरीर के हर हिस्से को चाकुओं से गोदा गया था और उनकी आंतों तक को बाहर निकाल लिया गया. कुल मिलाकर अंकित की हत्या बहुत ही बेरहमी से की गई थी और ये नफरत और कट्टरता का सबसे बड़ा उदाहरण है.

अंकित शर्मा का शव चांद बाग के एक नाले से मिला था. आज हमें उस इलाके का एक CCTV Footage भी मिला है. इस वीडियो के बारे में दावा किया जा रहा है कि ये उसी नाले का CCTV Footage है. इस Footage में कुछ उपद्रवियों को नाले में उतरते हुए देखा जा सकता है और दावा किया जा रहा है कि ये लोग इस नाले में लाशों को फेंक रहे थे. इसके अलावा ताहिर हुसैन के घर के भी कुछ Video सोशल मीडिया पर Viral हो रहे हैं. जिनमें कुछ दंगाइयों को उनके घर की छत पर देखा जा सकता है. इनमें से कुछ video हमें स्थानीय लोगों ने भी भेजे थे.लेकिन हम इन Videos की पुष्टि नहीं कर सकते. पुलिस अब इन Videos की जांच कर रही है और सारा सच जल्द ही सामने आ जाएगा.

कल हमने आपको पूर्वी दिल्ली के चांद बाग इलाके की कुछ तस्वीरें दिखाई थी. यहां कई घरों में आग लगा दी गई थी, तोड़फोड़ की गई थी और intelligence bureau यानी IB में काम करने वाले अंकित शर्मा की हत्या भी इसी इलाके में की गई थी. दिल्ली के इस इलाके में दंगा भड़काने का आरोप आम आदमी पार्टी के पार्षद ताहिर हुसैन पर लग रहा है. 

कल जब हमने स्थानीय लोगों से बात कि तो बहुत सारे लोगों ने ताहिर हुसैन का नाम लिया. लोगों का आरोप है कि ताहिर हुसैन के घर की छत से ही दंगाई पत्थर, पेट्रोल बम और तेजाब फेंक रहे थे . और हमें खुशी है कि आज दिल्ली पुलिस ने ताहिर हुसैन के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कर लिया है.

आज जब Zee News की टीम ने एक बार फिर ताहिर हुसैन के घर जाकर सच्चाई जानने की कोशिश की तो स्थानीय लोगों के आरोपों में दम नज़र आया. हमारी टीम को ताहिर हुसैन के घर से बड़ी मात्रा में पेट्रोल बम, बोरियों में भरकर रखे गए पत्थर, तेजाब भरी थैलियां और पत्थर मारने के लिए इस्तेमाल की जाने वाली गुलेल भी मिली, इतना ही नहीं हमें वहां भारी मात्रा में आम आदमी पार्टी की चुनाव सामग्री भी मिली. कुल मिलाकर ताहिर हुसैन का तहखाना..दंगों के औजारों से भरा पड़ा था. 

पुलिस के सूत्रों का कहना है कि ताहिर हुसैन दंगे वाले दिन घर पर अपनी मौजूदगी को लेकर झूठ बोल रहे हैं. कल जब हमनें आपको दिल्ली के दंगा प्रभावित इलाकों से Ground Reporting तब भी वहां मौजूद लोगों ने हमें बार बार दंगों में ताहिर हुसैन की भूमिका के बारे में बताया था. ताहिर हुसैन पर लोगों के लगे आरोपों के बारे में आपको एक बार फिर सुनना चाहिए.

कुल मिलाकर दिल्ली में फिलहाल दो ही बागों की चर्चा है. एक है चांद बाग और दूसरा है शाहीन बाग़. बाग कभी रचनात्मक्ता का केंद्र हुआ करते थे, बागों में खूबसूरती बसा करती थी. बागों में बहार हुआ करती थी. लेकिन अब बागों में दंगो, और देश को बांटने की साजिश रची जा रही है.

कल मैंने DNA के दौरान आपको बताया था कि कैसे कुछ लोग धर्म निरपेक्षता के नाम पर दंगों के सबसे बड़े आरोपी का नाम लेने से बच रहे हैं. लेकिन हमने आपको कल ही साफ साफ ताहिर हुसैन पर लगे आरोपों के बारे में उनका नाम लेकर बताया था. हिंसा और झूठ का कोई मजहब नहीं होता. इसलिए इसके जिम्मेदार लोगों का नाम हर हालत में सामने आना चाहिए.