DNA ANALYSIS: कोरोना वॉरियर्स के सम्मान में, सेना का 'ग्रैंड प्लान'

 भारतीय सेना भी इन कोरोना वॉरियर्स (corona Warriors) के प्रति अपना आभार प्रकट करेगी. सेना ने इसका तरीका और तारीख भी तय कर ली है. 

DNA ANALYSIS: कोरोना वॉरियर्स के सम्मान में, सेना का 'ग्रैंड प्लान'

सेना के प्रति आभार जताना और सैनिकों का सम्मान करना हमारे देश की परंपरा रही है. हर देशवासी इसे अपना कर्तव्य मानता है. कोरोना के खिलाफ फ्रंट लाइन पर युद्ध लड़ने वाले बहुत सभी लोग किसी सैनिक से कम नहीं हैं और अब भारतीय सेना भी इन कोरोना वॉरियर्स (corona Warriors) के प्रति अपना आभार प्रकट करेगी. सेना ने इसका तरीका और तारीख भी तय कर ली है. 

तीन मई को भारत की तीनों सशस्त्र सेनाएं खास अंदाज में कोरोना वॉरियर्स को सलामी देंगी. इन कोरोना वॉरियर्स में डॉक्टर, मेडिकल स्टाफ, सफाई कर्मचारी, पुलिसकर्मी, होमगार्ड और मीडियाकर्मी शामिल हैं. तीन मई की सुबह वायुसेना श्रीनगर से तिरुअनंतपुरम तक और डिब्रूगढ़ से लेकर कच्छ तक फ्लाई पास्ट करेगी. सेना, कोरोना मरीजों का इलाज कर रहे अस्पतालों के बाहर बैंड बजाएगी और हेलीकॉप्टर्स उन अस्पतालों पर फूल बरसाएंगे. सेना देश के अलग-अलग पुलिस मेमोरियल्स में कोरोना के खिलाफ लड़ाई में शहीद हुए पुलिसकर्मियों को श्रद्धांजलि देगी. शाम को नौसेना के जहाज समुद्र में रोशनी बिखेरेंगे.
 
कोरोना की इस महामारी के दौरान भी सुरक्षा को लेकर सेना सतर्क है. सेनाध्यक्ष जनरल एमएम नरवणे ने कहा है कि आतंकवाद के खिलाफ ऑपरेशन लगातार जारी हैं. सेना ने इस बीच खुद को कोरोना के प्रकोप से बचाकर भी रखा है. अब तक कुल 14 सैनिक कोरोना पाज़िटिव हुए थे जिनमें से 5 ड्यूटी पर वापस भी आ गए हैं. नौसेना प्रमुख ने भी कहा कि समुद्री सुरक्षा के लिए जिन जहाजों की तैनाती होनी थी वो तय समय के हिसाब से की जा रही है.

DNA वीडियो:

खाड़ी देशों सहित विदेशों में फंसे भारतीयों को वापस लाने के लिए भी सेना ने अपनी तैयारी पूरी कर ली है. अब आदेश का इंतजार है. नौसेना के जहाज भारतीयों को लेकर आएंगे और ये प्रक्रिया जारी रहेगी. वायुसेना के 28 से 30 एयरक्राफ्ट भारतीयों की सुरक्षित घर वापसी के लिए तैयार कर लिए गए हैं. साफ है कि बहुत जल्द भारतीय सेनाएं दूसरे देशों में फंसे भारतीयों की वापसी के लिए बड़ा ऑपरेशन चलाने की तैयारी में हैं.