DNA ANALYSIS: वैक्सीनेशन से जुड़ी कुछ अहम जानकारियां, Corona Vaccine लगवाने से पहले इन्हें जरूर जानें

Corona Vaccination: हम आपको बताने जा रहे हैं कि कोरोना वैक्सीन लगवाने के लिए आपको क्या करना है और रजिस्ट्रेशन कैसे और कहां होगा. फिलहाल आपके पास वैक्सीन चुनने का विकल्प नहीं होगा. अगर किसी वजह से आप तय समय पर वैक्सीन लगवाने नहीं जा पाते हैं तो आप 24 घंटे तक Appointment Reschedule कर सकते हैं.

DNA ANALYSIS: वैक्सीनेशन से जुड़ी कुछ अहम जानकारियां, Corona Vaccine लगवाने से पहले इन्हें जरूर जानें

नई दिल्‍ली: कोरोना वैक्सीनेशन (Corona Vaccination) के दूसरे चरण में 60 वर्ष से अधिक उम्र के बुजुर्गों को और 45 वर्ष से ज्यादा उम्र के बीमार लोगों को वैक्सीन लगाई जा रही है. स्वास्थ्य मंत्रालय (Health Ministry) ने 20 बीमारियों की लिस्ट जारी की है. अगर आपकी उम्र 45 वर्ष से अधिक है तो इस लिस्ट को ध्यान से देखिए, अगर आपको इनमें से कोई भी बीमारी है तो आप वैक्सीन लगवा सकते हैं. 

45 वर्ष से ज्यादा उम्र के लोग लगवा सकते हैं वैक्सीन

-अगर आप दिल के मरीज हैं. 

-आपको हाई ब्‍लड प्रेशर या डायबिटीज है. 

-कभी स्ट्रोक हुआ हो. 

-किडनी या लिवर की गंभीर बीमारी हो. 

-ट्रांसप्लांट की वेटिंग लिस्‍ट में हों. 

-सांस की बीमारी की वजह से अस्पताल में भर्ती हुए हों. 

-किसी तरह का कैंसर. 

-कोई गंभीर ब्‍लड डिसऑर्डर , ऑटो इम्‍यून डिसऑर्डर या कोई जेनेटिक बीमारी हो. 

-इसके अलावा, दिव्यांग, मनोरोगी और एसिड अटैक के शिकार लोग भी वैक्सीन लगवा सकते हैं.

-45 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों को किसी डॉक्टर या रजिस्‍टर्ड मेडिकल प्रैक्टिशनर से इसका सर्टिफिकेट लेना होगा.

रजिस्ट्रेशन कैसे और कहां होगा?

अब हम आपको ये बताते हैं कि आपको वैक्सीन लगवाने के लिए क्या करना है और रजिस्ट्रेशन कैसे और कहां होगा. आप कोविन वेबसाइट www.cowin.gov.in पर रजिस्‍ट्रेशन कर सकते हैं. इसी वेबसाइट पर आप ये भी देख सकते हैं कि आपके घर के पास कौन सा वैक्सीनेशन सेंटर है, यानी आप कहां जाकर वैक्सीन लगवा सकते हैं. इसके अलावा आप आरोग्य सेतु ऐप पर भी रजिस्टर कर सकते हैं.

एक मोबाइल नंबर के जरिए एक ही परिवार के 4 लोगों का रजिस्ट्रेशन किया जा सकता है.  हालांकि कल बहुत से लोग कोविन ऐप के जरिए रजिस्टर करने की कोशिश कर रहे थे लेकिन कोविन ऐप आम लोगों के लिए शुरू नहीं हुआ है. इसलिए आप दो तरीकों का ही प्रयोग कर सकते हैं.

अब आपको वैक्सीनेशन से जुड़ी कुछ अहम जानकारियां दे देते हैं.

-आप आधार कार्ड, वोटर आईडी कार्ड, पासपोर्ट, ड्राइविंग लाइसेंस या कोई ऐसा सरकारी पहचान पत्र जिसमें आपकी फोटो, उम्र और घर का पता दर्ज हो, इनमें से किसी एक डॉक्‍यूमेंट से रजिस्टर कर सकते हैं.

corona vaccine

-जब आप वैक्सीन लगवाने जाएं, तो अपने साथ आईडी प्रूफ और मोबाइल फोन जरूर लेकर जाएं जिससे आपने रजिस्ट्रेशन में इस्तेमाल किया हो. 

corona vaccine

-फिलहाल आपके पास वैक्सीन चुनने का विकल्प नहीं होगा. अगर किसी वजह से आप तय समय पर वैक्सीन लगवाने नहीं जा पाते हैं तो आप 24 घंटे तक Appointment Reschedule कर सकते हैं.

corona vaccine

-उदाहरण के लिए, अगर आपको वैक्सीनेशन के लिए 5 मार्च की तारीख मिली है तो आप 4 मार्च को अपनी अपॉइंटमेंट आगे बढ़ा सकते हैं. लेकिन अगर आप 5 मार्च को नहीं पहुंचे और अपॉइंटमेंट भी नहीं बदल पाए, तो आपकी अपॉइंटमेंट कैंसिल हो जाएगी. आपको नई अपॉइंटमेंट लेनी होगी.

corona vaccine

-पहली डोज लगाने के 28 दिन के बाद सेकंड लगाई जाती है.अगर आप 28 दिन बाद नहीं पहुंचे तो आपको जल्द से जल्द अपनी सेकंड डोज लेनी होगी. इसके लिए आप अपने वैक्‍सीनेशन सेंटर से संपर्क कर सकते हैं. 

-अगर आपके पास स्‍मार्टफोन नहीं है, तो आप सीधे वैक्सीनेशन सेंटर जाकर रजिस्‍ट्रेशन करवा सकते हैं.

-देश भर में वैक्सीनेशन की प्रक्रिया सप्ताह में 6 दिन यानी सोमवार से शनिवार चलेगी.

-वैक्सीन लगाने का काम सुबह 9 बजे से दोपहर 3 बजे तक किया जाएगा.

2 डोज लगवाने पर ही पूरा माना जाएगा वैक्‍सीनेशन

-सरकारी अस्पतालों में वैक्सीन मुफ्त में लगाई जा रही है और प्राइवेट अस्पतालों में इसके लिए आपसे एक डोज के लिए ढाई सौ रुपए लिए जाएंगे. वैक्सीन की 2 डोज लगवाने पर ही वैक्‍सीनेशन पूरा माना जाएगा.

-अब सबसे जरूरी बात, अगर आप वैक्सीन की एक डोज ले चुके हैं तो अपनी जिम्‍मेदारी निभाते हुए दूसरी डोज भी जरूर लगवाएं. वरना वैक्सीन लगवाने का फायदा नहीं होगा. देश में ऐसे कई लोग हैं, जिन्होंने उत्साह में पहली डोज तो ले ली, लेकिन दूसरी डोज लगवाने गए ही नहीं.

-1 फरवरी 2021 तक देश में 33 लाख 50 हजार 265 लोगों को वैक्सीन की पहली डोज लगाई जा चुकी थी. जबकि 28 फरवरी तक मात्र 24 लाख 19 हजार 557 लोगों ने ही दूसरी डोज लगवाई थी.

-इसका मतलब ये हुआ कि 9 लाख 30 हजार 708 लोगों ने या तो समय से दूसरी डोज लगवाई नहीं या फिर बिना लगवाए ही गायब हो गए. 

मास्क लगाने की आदत न छोड़ें 

वैक्सीन की दोनों डोज लगने के 14 दिन बाद कोरोना वायरस के खिलाफ एंटीबॉडीज बनती हैं. लेकिन आपको मास्क लगाने की आदत नहीं छोड़नी चाहिए.

वैक्सीन चुनने का विकल्प नहीं 

आज बहुत से लोग ये भी पूछ रहे हैं कि क्या वो अपनी मर्जी से इन दोनों वैक्‍सीन्‍स में से किसी एक वैक्‍सीन का चुनाव कर सकते हैं. इस सवाल का जवाब भी आज हम आपके लिए लाए हैं. फिलहाल लोगों के पास वैक्सीन चुनने का विकल्प नहीं होगा.

जब आप वैक्सीन लगवाने के लिए रजिस्टर करते हैं. तब आपको ये नहीं बताया जाता कि आपको कौन सी वैक्सीन लगवाई जाएगी. हालांकि आप वैक्सीन लगवाने से पहले नर्स से इस पर जानकारी ले सकते हैं और तब उन्हें मना भी कर सकते हैं. लेकिन मना करने पर ऐसा नहीं है कि आपको दोबारा वैक्सीन नहीं लगाई जाएगी.

इसके लिए बस आपको फिर से रजिस्ट्रेशन कराना होगा और ऐसा करते समय आप उस वैक्सीनेशन सेंटर को चुन सकते हैं, जहां या तो कोवैक्सीन लगाई जा रही है, या कोविशील्ड. अभी ज्‍यादातर केन्द्रों पर एक ही वैक्सीन लगाई जा रही है और वो इनमें से कोई भी हो सकती है.

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.