DNA ANALYSIS: क्या आप चाय से जुड़ी इन अनोखी बातों के बारे में जानते हैं?

भारत में एक व्यक्ति एक महीने में लगभग 26 कप चाय पीता है. और भारत में जितनी चाय उगाई जाती है उसकी 70 प्रतिशत, भारत में ही इस्तेमाल हो जाती है.

DNA ANALYSIS: क्या आप चाय से जुड़ी इन अनोखी बातों के बारे में जानते हैं?

नई दिल्ली: चाय को पूरी दुनिया में बहुत पसंद किया जाता है. कई लोगों के दिन की शुरुआत तो बिना चाय के होती ही नहीं है. बहुत सारे लोग तो शिकायत करते हैं कि अगर उन्हें सुबह उठते ही चाय ना मिले तो उनका पूरा दिन खराब हो जाता है. 

भारत में चाय, सिर्फ एक ड्रिंक नहीं है बल्कि संस्कृति का अंग है. चाय की प्याली से मेहमानों का स्वागत करना, सभ्यता की निशानी मानी जाती है और अगर कोई चाय ना पिलाए तो कहा जाता है कि देखो उसने तो हमसे एक कप चाय तक की नहीं पूछी. आप सोच रहे होंगे कि हम चाय के बारे में इतनी चर्चा क्यों रहे हैं. तो बता दें कि ये मौका अंतर्राष्ट्रीय चाय दिवस का है.  

वैसे तो भारत समेत कई चाय उत्पादक देशों में वर्ष 2005 से ही 15 दिसंबर को चाय दिवस मनाया जाता है. लेकिन वर्ष 2015 में भारत ने संयुक्त राष्ट्र महासभा से सिफारिश की थी कि 21 मई को अंतर्राष्ट्रीय चाय दिवस घोषित किया जाए. 

जिसके बाद संयुक्त राष्ट्र ने भारत के इस प्रस्ताव को वर्ष 2019 में स्वीकार कर लिया था. संयुक्त राष्ट्र ने चाय के औषधीय गुणों के साथ-साथ सांस्कृतिक महत्व को भी मान्यता दी है.

तो अंतर्राष्ट्रीय चाय दिवस के मौके पर हम आपको, चाय से जुड़े कुछ रोचक तथ्य और बातें बताते हैं. चाय ऐसा पेय पदार्थ है, जो पानी के बाद दुनिया में सबसे ज्यादा पिया जाता है. 

चाय से जुड़ी पौराणिक कथाओं के अनुसार चाय पीने की शुरुआत 5 हजार वर्ष पहले चीन में हुई थी. भारत में चाय का उत्पादन, असम में ब्रिटिश, ईस्ट इंडिया कंपनी ने वर्ष 1835 में शुरु किया था. 

चाय उत्पादन के मामले में भारत, चीन के बाद दूसरा सबसे बड़ा उत्पादक देश है. दुनिया का करीब 20 प्रतिशत चाय उत्पादन, भारत में होता है. 

कहा जाता है कि दुनिया में पंद्रह सौ से ज्यादा प्रकार की चाय पी जाती है. चाय, अफगानिस्तान और ईरान का राष्ट्रीय पेय है. दुनिया में तीन सौ करोड़ कप चाय रोज पी जाती हैं. 

भारत में एक व्यक्ति एक महीने में लगभग 26 कप चाय पीता है. और भारत में जितनी चाय उगाई जाती है उसकी 70 प्रतिशत, भारत में ही इस्तेमाल हो जाती है.