DNA ANALYSIS: तबलीगी जमात ने 135 करोड़ लोगों की 'मेहनत' पर फेरा पानी!

कुछ लोगों के आचरण की वजह से भारत में संक्रमण का स्तर लॉकडाउन से पहले वाली स्थिति में पहुंच गया है. पूरे देश में पिछले 10 दिनों से लॉक डाउन है, और तबलीगी जमात ने 135 करोड़ लोगों की 10 दिनों की मेहनत को बर्बाद कर दिया. 

DNA ANALYSIS: तबलीगी जमात ने 135 करोड़ लोगों की 'मेहनत' पर फेरा पानी!

कुछ लोगों के आचरण की वजह से भारत में संक्रमण का स्तर लॉकडाउन से पहले वाली स्थिति में पहुंच गया है. पूरे देश में पिछले 10 दिनों से लॉक डाउन है, और तबलीगी जमात ने 135 करोड़ लोगों की 10 दिनों की मेहनत को बर्बाद कर दिया. 

23 मार्च तक भारत में इस वायरस के 500 मामलों की पुष्टि हो चुकी थी. और उस समय तक भारत में हर तीन दिन में केस दोगुने हो रहे थे.  25 मार्च को लॉक डाउन लागू होने के बाद अगले 4 दिनों में इसका असर दिखाई दिया. 29 मार्च के बाद हर 5 दिनों में संक्रमण के आंकड़े दोगुने हो रहे थे. लेकिन अब नियमों के उल्लंघन की वजह से हर 3 दिनों में, कोरोना वायरस के मामलों के डबल हो जाने की आशंका है.  भारत में 1 मार्च को इस वायरस के 3 मामले थे, और इसे 1000 तक पहुंचने में 28 दिनों का वक्त लगा. लेकिन एक हजार से 2 हजार तक पहुंचने में सिर्फ 4 दिन लगे. 

अब आपको कोरोना वायरस के डरावने आंकड़े दिखाते हैं. पिछले 94 दिनों में विश्व के 180 से ज्यादा देशों में, 10 लाख से ज्यादा लोग इस वायरस से संक्रमित हो चुके हैं. पूरी दुनिया की एक तिहाई जनसंख्या यानी लगभग 250 करोड़ लोग लॉक डाउन की वजह से अपने घरों में बंद हैं. कोरोना से संक्रमित मरीजों की संख्या ढाई लाख होने में 80 दिन लगे थे. इसके बाद 6 दिन में ढाई लाख मरीज और बढ़ गए. अगले ढाई लाख मामले सिर्फ 4 दिन में बढ़े. इसके बाद सिर्फ 3 दिन में ढाई लाख मरीज और बढ़ गए. यानी 93 दिन में आंकड़ा 10 लाख के पार हो गया. करीब 55 हज़ार लोगों की मौत भी हो चुकी है. इस वायरस के संक्रमण की रफ्तार बहुत तेज़ है.

अमेरिका में इस समय दुनिया में सबसे ज्यादा 2 लाख 45 हजार से ज्यादा मरीज हैं. और वहां अभी 3 दिनों में मरीजों की संख्या 100 प्रतिशत बढ़ रही है. स्पेन में 1 लाख 17 हजार और इटली में 1 लाख 15 हजार से ज्यादा लोग संक्रमित हैं और वहां 5 दिनों में संक्रमित मरीजों का आंकड़ा दोगुने हो रहा है. पाकिस्तान में इस समय 2600 से ज्यादा लोग इस वायरस से संक्रमित हैं. और वहां हर 4 दिनों में संक्रमित मरीजों का आंकड़ा दोगुना हो रहा है. एक अच्छी बात ये भी है अबतक दुनिया भर में 2 लाख 17 हज़ार से ज्यादा लोग इस वायरस के संक्रमण से ठीक हो चुके हैं.

अब आपको दुनिया के सबसे शक्तिशाली देश अमेरिका का हाल बताते हैं. अमेरिका में दो दिन में 2 हज़ार से ज़्यादा लोगों की मौत हो चुकी है. पिछले 24 घंटे में एक हज़ार से ज़्यादा लोग मारे गए. 1 अप्रैल को वहां 1047 लोग वायरस का शिकार हुए. एक दिन में इससे ज़्यादा मौतें दुनिया में कहीं नहीं हुईं. अब अमेरिका में मौत का आंकड़ा 6 हजार से ज्यादा हो चुका है. अमेरिका में इतनी मौतें हो रही हैं कि अब न्यॉयार्क के अस्पतालों में बॉडी बैग्स की कमी हो गई है. इस समय न्यूयॉर्क शहर के फनरल होम्स में अंतिम संस्कार के लिए भी जगह कम पड़ रही है. वहां का एक फनरल होम्स एक दिन में 40 से 60 मृतकों का अंतिम संस्कार कर सकता है, लेकिन गुरुवार को ऐसे एक फनरल होम्स में 185 अंतिम संस्कार हुए.

DNA वीडियो:

ये अनुमान लगाया गया है कि अमेरिका में इस महामारी से कम के कम 2 लाख लोगों की मौत हो सकती है. इसलिए अमेरिका की Federal Emergency Management Agency ने वहां के रक्षा मंत्रालय को 1 लाख बॉडी बैग्स का इंतजाम करने के लिए कहा है. अमेरिका की सेना बॉडी बैग्स का इस्तेमाल युद्ध के मैदान में मारे गए अपने सैनिकों के पार्थिव शरीर को रखने के लिए करती है.