close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

अगर जा रहे हैं मनाली से स्‍पीत‍ि और चंद्रताल झील की यात्रा पर, तो ध्‍यान रखें ये बातें

इन दिनों हिमाचल प्रदेश में कई जगहों पर नालों में पानी का बहाव बहुत तेज है. ऐसे में यात्रा करते समय आपको कई बातें याद रखनी होंगीं.

अगर जा रहे हैं मनाली से स्‍पीत‍ि और चंद्रताल झील की यात्रा पर, तो ध्‍यान रखें ये बातें
बारि‍श के कारण मनाली में कई रास्‍ते खराब भी हो गए हैं. फोटो: एएनआई

यश राज, मंडी : मॉनसून के मौसम में आप अगर ठंडी जगह और खासकर हिमालयी क्षेत्र में घूमने का प्‍लान बना रहें हैं तो आपको कुछ चीजों का ख्‍याल रखना होगा. अगर आपकी यात्रा हिमाचल प्रदेश की है तो यात्रा से पहले कुछ छोटी बड़ी बातें नोट कर लीजिए.

इन दिनों हिमाचल के ग्राम्फू और लोसर के बीच कई जगहों पर नालों में पानी का बहाव बहुत तेज है. पूरे रास्ते में लगभग 10-12 जगहों पर नालों में पानी ज्यादा है. दोपहर 12 से 2 बजे के बीच इन नालों में पानी काफी ज्‍यादा बढ़ जाता है. दोपहर 1 बजे तक छोटी गाड़ियां यहां से निकल रही हैं.

उसके बाद 4x4 गाड़ियां ही निकल पा रही हैं. मगर 2 से 3 बजे के बाद उन्हें भी मुश्किल हो रही है. कुंजम के बाद लोसर के पहले भी एक नाले में पानी ज्यादा बढ़ रहा है. इससे पहले सोमवार को भी 30-40 लोगों का एक ग्रुप ग्राम्फू और लोसर के बीच फंस गया था. जिनके बारे अभी जानकारी नहीं मिल पाई है.

अगर आप मनाली जा रहे हैं तो सुबह जल्दी निकलें. कोशिश करें कि आप बातल में 12 बजे के आसपास पहुंच जाएं. अगर आप अकेले या ग्रुप में जा रहे हैं तो कम से कम एक दिन का खाने पीने का सामान साथ रखें. वैसे छतड़ू और बातल में ढाबे हैं, जहाँ पर आपको खाना और रहने की जगह मिल सकती है. अपने साथ जरूरी दवाइयां जरूर रखें.

ग्राम्फू के बाद और लोसर तक मोबाइल नेटवर्क नहीं है. अपने मित्रों या घरवालों को पहले ही इस बारे सूचित कर दें. स्पीति, काज़ा या जिन जगहों पर आपकी बुकिंग है उन्हें अपनी गाड़ी का नंबर जरूर दे कर रखें, ताकि वो लोसर चेक पोस्ट पर आपके पहुंचने की सूचना ले सकें.  अगर इस रास्ते पर कहीं आप फंस जाएं तो जरूरत पड़ने पर दूसरों की सहायता जरूर करें. नालों में आये तेज बहाव को संभव होने पर ही पार करें. जबरदस्ती पार करने की कोशिश आपको मुश्किल में डाल सकती है.