देश के तीन बड़े डॉक्टरों की देश के लोगों से गुजारिश, बोले- कोरोना से घबराएं नहीं

डॉक्टर देवी शेट्टी ने कहा कि अगर आप पॉजिटिव आते हैं तो तुरंत डॉ से सलाह लें. पैनिक न करें. उन्होंने कहा कि कोविड अब कॉमन हो चुका है. हमेशा मास्क पहनें और पल्स ऑक्सीमीटर से ऑक्सीजन लेबल चेक करते रहें.

देश के तीन बड़े डॉक्टरों की देश के लोगों से गुजारिश, बोले- कोरोना से घबराएं नहीं

नई दिल्ली: देश में कोरोना वायरस (Coronavirus) से पैनिक के माहौल को देखते हुए AIIMS के डायरेक्टर डॉक्टर रणदीप गुलेरिया (Dr Randeep Guleria), नारायण हेल्थ के डॉक्टर देवी शेट्टी (Dr Devi Shetty) और मेदांता ग्रुप के डॉक्टर नरेश त्रेहन (Dr Naresh Trehan) ने देश के लोगों को संबोधित किया. डॉक्टर देवी शेट्टी ने बताया कि अगर आपको कोरोना के सिम्प्टम्स नजर आ रहे हैं तो घबराएं नहीं. जितनी जल्दी हो सके कोरोना टेस्ट कराएं और आइसोलेट हो जाएं. 

किसी भी हालत में पैनिक न हों

उन्होने कहा कि अगर आप पॉजिटिव आते हैं तो तुरंत डॉ से सलाह लें. पैनिक न करें. उन्होंने कहा कि कोविड अब कॉमन हो चुका है. हमेशा मास्क पहनें और पल्स ऑक्सीमीटर से ऑक्सीजन लेबल चेक करते रहें. उन्होंने कहा कि ऑक्‍सीजन छह मिनट के अंतराल पर दो बार चेक करें. ऑक्सीजन लेवल 94 से कम होने पर डॉक्‍टर से बात करें, किसी भी हालात में घबराएं नहीं. 

ये भी पढ़ें- प्रियंका गांधी पर बरसे BJP नेता, बोले- कांग्रेस शासित राज्‍यों में कोरोना से हालात खराब

पॉजिटिव आने पर अस्पताल न भागें

डॉ नरेश त्रेहन ने कहा कि अस्‍पतालों के ऐप से जानकारी ले सकते हैं. लक्षण दिखाई देने पर तुरंत खुद को आइसोलेट करें. देर न करते हुए इलाज शुरू कर दें. पॉजिटिव आने पर अस्पताल न भागें. मध्‍यम लक्षण दिखने पर क्‍वारंटीन सेंटर जा सकते हैं, ऑक्‍सीजन लेवल में उतार-चढ़ाव दिखने पर अस्पताल में भर्ती हो सकते हैं. 

ये भी पढ़ें- महाराष्ट्र: स्वास्थ्य मंत्री ने बताया, अस्पताल में किस कारण हुई 22 लोगों की मौत

VIDEO

85% लोगों को रेमडिसिविर की जरूरत नहीं

AIIMS डायरेक्टर डॉक्टर गुलेरिया ने कहा कि 85% से अधिक लोग बिना किया विशेष उपचार के कोरोना से ठीक हो जाएंगे. उन्होंने कहा कि हर किसी को रेमडिसिविर की जरूरत नहीं है. अधिकांश लोगों में सामान्य सर्दी, गले में खराश आदि जैसे लक्षण दिखाई दे रहे हैं जो 5 से 7 दिनों में सामान्य उपचार से ठीक हो रहे हैं. उन्होंने कहा कि केवल 15 ऐसे मरीज हैं जिन्हें अस्पताल जाने की जरूरत पड़ रही है. 

यहां सुनें पूरा संबोधन

डॉक्टरों की गुजारिश- घर से बाहर न निकलें

देश के तीन बड़े डॉक्टरों ने लोगों से अपील की कि सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें. अपनी जिम्मेदारी समझें और जरूरत न होने पर घर से बाहर न निकलें. बार-बार हाथ धोएं और पॉजिटिव आने पर परेशान न हों. पॉजिटिव आते ही हॉस्पिटल की तरफ न भागें. धैर्य बनाए रखें, किसी भी सिचुएशन में पैनिक न करें, पैनिक करने से शरीर में ऑक्सीजन लेवल कम हो सकता है. 

डॉक्टरों ने लोगों से गुजारिश की कि अपने डॉक्टर की सलाह पर दवाइयां लें, सही खान-पान करें, लिक्विड डायट लेते रहें और एक्सरसाइज करें. सही तरीके से इलाज करने पर मरीज 5 से 7 दिन में ठीक हो रहे हैं. 

LIVE TV

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.