close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

शहीद की बेटी गुरमेहर कौर ने अभियान से खुद को किया अलग, रेप की धमकी मामले में FIR दर्ज

दिल्‍ली यूनिवर्सिटी के रामजस कॉलेज में बीते दिनों हुई हिंसा के बाद सोशल मीडिया पर छात्र संगठन एबीवीपी के खिलाफ अभियान शुरू करने वाली करगिल शहीद की बेटी गुरमेहर कौर ने पूरे मामले में विवाद बढ़ने के बाद कैंपेन से खुद को अलग कर लिया है। वहीं, गुरमेहर को रेप की धमकी के मामले में दिल्‍ली पुलिस ने आज एफआईआर दर्ज कर लिया है।

शहीद की बेटी गुरमेहर कौर ने अभियान से खुद को किया अलग, रेप की धमकी मामले में FIR दर्ज

नई दिल्‍ली : दिल्‍ली यूनिवर्सिटी के रामजस कॉलेज में बीते दिनों हुई हिंसा के बाद सोशल मीडिया पर छात्र संगठन एबीवीपी के खिलाफ अभियान शुरू करने वाली करगिल शहीद की बेटी गुरमेहर कौर ने पूरे मामले में विवाद बढ़ने के बाद कैंपेन से खुद को अलग कर लिया है। वहीं, गुरमेहर को रेप की धमकी के मामले में दिल्‍ली पुलिस ने आज एफआईआर दर्ज कर लिया है।

उधर, कारगिल शहीद की बेटी के मामले के संबंध में आज अज्ञात लोगों के संबंध में प्राथमिकी दर्ज की गई है। छात्रा को कथित तौर पर एबीवीपी के सदस्यों से ‘बलात्कार की धमकियां’ मिल रही थी। दिल्ली महिला आयोग की तरफ से पुलिस को कल एक पत्र मिला था, जिसमें गुरमेहर कौर को धमकी देने वालों के खिलाफ तत्काल प्राथमिकी दर्ज करने की मांग की गई थी। वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि प्राथमिकी सूचना प्रौद्योगिकी कानून और भारतीय दंड संहिता की विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया है। उधर, एबीवीपी ने पुलिस को लिखित शिकायत दी है और गुरमेहर को कथित धमकी देने वाले पर कार्रवाई की मांग की है। एबीवीपी के मीडिया संजोयक ने भी दिल्ली पुलिस को चिट्ठी लिख कर धमकी के मामले में कार्रवाई की मांग की है।

गुरमेहर कौर ने मंगलवार को कहा है कि मैं इस अभियान से खुद को अलग कर रही हूं। डीयू की इस छात्रा ने अब खुद को अकेला छोड़ने की अपील की। गुरमेहर ने आज ट्वीट कर कहा कि उन्‍हें अकेला छोड़ दिया जाए। मुझे अब कुछ और साबित करने की जरूरत नहीं है। मुझे जो कहना था, वो मैंने कह दिया है। आप सभी का शुक्रिया, मुझे जो कहना था वो कह चुकी हूं। एआईएसए समर्थक छात्रा ने कहा कि ये मुहिम मेरे नहीं बल्कि छात्रों के लिए है। गुलमेहर ने आज सुबह सुबह ट्वीट कर इसकी जानकारी दी और इस कैंपेन में शामिल लोगों को आगे की लड़ाई के लिए शुभकामनाएं भी दीं। डीयू में मंगलवार को एआईएसए समर्थक मार्च निकालने की तैयारी कर रहे हैं। लेकिन अब शहीद की बेटी इस मार्च में शामिल नहीं होगी। गुरमेहर ने छात्र संगठन एआईएसए की ओर से डीयू में निकाले जाने वाले मार्च के लिए छात्रों को शुभकामना दी और कहा कि मार्च में ज्यादा से ज्यादा संख्या में जमा हों और ये कैंपेन सिर्फ मेरे लिए नहीं बल्कि सभी छात्र-छात्राओं के लिए है।

ऐसा कहा जा रहा है गुरमेहर ने आरएसएस समर्थित संगठन की ओर से कथित तौर पर धमकियां मिलने और भाजपा के नेताओं की ओर से ट्रोल किए जाने पर यह अभियान वापस लिया है। शहीद कैप्टन मनदीप सिंह की बेटी कौर को उसके कॉलेज लेडी श्री राम कॉलेज ने समर्थन दिया है और उसके कदम को साहसपूर्ण बताया है।

अभियान वापस लेने के बाद डीयू की यह छात्रा अब एबीवीपी के सदस्यों के खिलाफ किसी गतिविधि में हिस्सा नहीं लेगी। आज वह दिल्ली विश्वविद्यालय में छात्रों के एक समूह द्वारा आयोजित एक मार्च में भी हिस्सा नहीं लेगी।
अगर किसी को मेरे साहस या बहादुरी पर कोई शक है, तो मैं यही कहूंगी कि मैने काफी साहस दिखा दिया है। लेडी श्रीराम कॉलेज ने गुरमेहर का समर्थन करते हुए कहा है कि उसे अपना मत रखने का अधिकार है।

कॉलेज ने एक बयान में कहा कि हम बिना किसी डर के छात्रों का पोषण करने के संस्थान के कर्तव्य के तहत अपनी छात्रा का समर्थन करते हैं। गुरमेहर को अपनी राय रखने का अधिकार है और उसने समझदारी और बहादुरी के साथ प्रतिक्रिया दी है। उसने एक युवा नागरिक के तौर पर अपना कर्तव्य पूरा किया है। गुरमेहर (20) ने रामजस कॉलेज में हिंसा के बाद ‘मैं एबीवीपी से डरती नहीं’ नामक अभियान शुरू किया था। यह अभियान वायरल हो गया और इसे विभिन्न विश्वविद्यालय के छात्रों से भारी समर्थन मिला।

गुरमेहर ने सोमवार को दिल्ली महिला आयोग की प्रमुख स्वाति मालीवाल से मुलाकात की थी और कहा था कि उसे कथित तौर पर एबीवीपी के सदस्यों से सोशल मीडिया पर ‘बलात्कार की धमकियां’ मिल रही हैं। मालीवाल ने इन धमकियों को ‘शर्मनाक’ बताया है और पुलिस आयुक्त अमूल्य पटनाइक को पत्र लिखकर मांग की है कि ‘धमकियां देने वाले’ लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की जाए और गुरमेहर एवं उसके परिवार को सुरक्षा दी जाए। फिलहाल दिल्ली महिला आयोग के होमगार्ड गुरमेहर को सुरक्षा दे रहे हैं।