close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

मनी लांड्रिंग मामले में पूर्व मुख्यमंत्री वीरभद्र और उनकी पत्नी के खिलाफ चार्जशीट

प्रवर्तन निदेशालय ने दिल्ली की एक अदालत में हिमाचल प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह और उनकी पत्नी प्रतिभा सिंह के खिलाफ धन शोधन के एक मामले में चार्ज शीट दाखिल की गई है.

मनी लांड्रिंग मामले में पूर्व मुख्यमंत्री वीरभद्र और उनकी पत्नी के खिलाफ चार्जशीट
हिमाचल प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री पर धन शोधन का मामला चल रहा है (फाइल फोटो)

नई दिल्ली : प्रवर्तन निदेशालय ने दिल्ली की एक अदालत में हिमाचल प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह और उनकी पत्नी प्रतिभा सिंह के खिलाफ धन शोधन के एक मामले में आरोप पत्र दाखिल किया. इसमें पत्नी और अन्य के साथ साठगांठ कर कृषि आय के तौर पर सात करोड़ रूपये लाभ कमाने और इसे एलआईसी की पॉलिसी खरीदने में निवेश करने का आरोप लगाया गया है. 

LIC का एजेंट भी आरोपी
विशेष न्यायाधीश संतोष स्नेही मान के समक्ष दायर आरोप पत्र में कथित धनशोधन के लिए ईडी ने पूर्व मुख्यमंत्री की पत्नी प्रतिभा सिंह और जीवन बीमा निगम (एलआईसी) के एजेंट आनंद चौहान को भी आरोपी बनाया है. आरोप पत्र में 83 वर्षीय वीरभद्र सिंह, उनकी 62 वर्षीय पत्नी और आनंद चौहान के अलावा यूनिवर्सल एपल एसोसिएशन के मालिक चुन्नी लाल चौहान, और दो अन्य सह-आरोपी प्रेम राज और लवण कुमार के नाम हैं. सभी के खिलाफ धन शोधन रोकथाम अधिनियम (पीएमएलए) के तहत आरोप लगाए गए हैं. आनंद चौहान के खिलाफ यह दूसरा आरोप पत्र है.

आय से अधिक संपति मामले में हिमाचल के सीएम वीरभद्र सिंह के खिलाफ चार्जशीट दायर

12 फरवरी को सुनवाई
ईडी ने एक अन्य आरोपी के खिलाफ मामले की जांच के दौरान चौहान के खिलाफ आरोप पत्र दाखिल किया था. अदालत इस पर 12 फरवरी को विचार करेगी. ईडी ने 18 जनवरी को अदालत से जांच पूरी करने के लिए एक और महीने का समय देने का अनुरोध किया था जिसके बाद अदालत ने उसे स्थिति रिपोर्ट देने का निर्देश दिया था.

प्रवर्तन निदेशालय ने पीएमएलए के संबद्ध प्रावधानों के तहत आनंद चौहान को नौ जुलाई, 2016 को गिरफ्तार किया था. धन शोधन मामले में दो जनवरी को उसे जमानत मिल गई थी. इस संबंध में सीबीआई की ओर से दर्ज एक अन्य मामले में वीरभद्र सिंह, उनकी पत्नी और आनंद चौहान समेत अन्य लोगों का आरोप पत्र में नाम है. दंपति को अभी तक गिरफ्तार नहीं किया गया है. उनके समेत अन्य आरोपी सीबीआई के समक्ष मामले में मुकदमे का सामना कर रहे हैं.

(इनपुट भाषा से)