कश्मीर में दो मुठभेड़ों में 6 आतंकवादी ढेर, एक सैनिक शहीद

जम्मू-कश्मीर में दो अलग-अलग मुठभेड़ों में छह आतंकवादी मारे गए और एक सैनिक शहीद हो गया, जबकि दो सैन्यकर्मी घायल हो गए। हालांकि, घुसपैठ की कोशिश नाकाम कर दी गई। पुलिस और सेना ने शुक्रवार को यह जानकारी दी।

कश्मीर में दो मुठभेड़ों में 6 आतंकवादी ढेर, एक सैनिक शहीद
फाइल फोटो

श्रीनगर : जम्मू-कश्मीर में दो अलग-अलग मुठभेड़ों में छह आतंकवादी मारे गए और एक सैनिक शहीद हो गया, जबकि दो सैन्यकर्मी घायल हो गए। हालांकि, घुसपैठ की कोशिश नाकाम कर दी गई। पुलिस और सेना ने शुक्रवार को यह जानकारी दी।

सेना ने आज बताया कि एक घटना के तहत उत्तर कश्मीर के कुपवाड़ा जिला स्थित नौगाम सेक्टर में नियंत्रण रेखा के पास दो दिवसीय घुसपैठ रोधी एक अभियान में चार आतंकवादी मारे गए।

सेना के एक अधिकारी ने बताया कि भारी मात्रा में हथियारों से लैस आतंकवादियों के साथ मुठभेड़ में सेना के हवालदार हांगपंड दादा की भी जान चली गई। इन आतंकवादियों को पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर से कल भारत में घुसने की कोशिश करते पाया गया था।

उन्होंने बताया कि आतंकवादियों का शव मौके से बरामद कर लिया गया है। साथ ही चार एके 47 राइफलें, गोला बारूद अन्य सामग्री भी बरामद की गई। फिलहाल, चारों आतंकवादियों के शव की पहचान नहीं हो पाई है।

अपनी टीम का नेतृत्व कर रहे 36 वर्षीय दादा मुठभेड़ में गंभीर रूप से घायल हो गए थे और आर्मी बेस हॉस्पिटल लाए जाने के दौरान उनकी मृत्यु हो गई। उनके परिवार में उनकी पत्नी, एक बेटी और एक बेटा है।

अभियान का ब्योरा देते हुए अधिकारी ने बताया कि सेक्टर में तैनात सैनिकों ने आतंकवादियों के एक समूह की गतिविधि पाई थी।

उन्होंने बताया कि सैनिकों ने घुसपैठ की कोशिश को सफलतापूर्वक नाकाम कर दिया। उन्होंने बताया कि सुरक्षा बल इलाके में तलाश अभियान चला रहे हैं।

वहीं एक अन्य घटना के तहत बारामुला जिला के तंगमार्ग इलाके में सुरक्षा बलों से मुठभेड़ के दौरान हिजबुल मुजाहिदीन के दो आतंकवादी मारे गए। एक पुलिस प्रवक्ता ने बताया कि यहां से करीब 35 किलोमीटर दूर खोंचीपुरा गांव में तड़के पुलिस, सेना और सीआरपीएफ की एक संयुक्त टीम ने घेराबंदी और तलाश अभियान शुरू किया जिसके बाद मुठभेड़ हुई। 

प्रवक्ता ने बताया कि छिपे हुए आतंकवादियों से आत्मसमर्पण करने को कहा गया लेकिन उन्होंने ऐसा करने से इनकार कर दिया। इसके बजाय उन्होंने संयुक्त तलाश दल पर गोलीबारी की, जिसके परिणामस्वरूप मुठभेड़ हुई। मारे गए इन दोनों आतंकवादियों की पहचान मेहराज अहमद भट और आदिल अहमद के रूप में की गई है। ये दोनों जिले के क्रमश: पाटन और सोपोर कस्बे के रहने वाले हैं।

उन्होंने बताया कि वे हिजबुल मुजाहिदीन से जुड़े हुए थे। मुठभेड़ स्थल से दो एके राइफलें भी बरामद हुई हैं।

सेना के एक अधिकारी ने बताया कि अभियान में दो सैनिक घायल हो गए।