close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

कश्मीर पर EU ने दिया भारत का साथ, कहा- यहां आतंकी चांद से नहीं पड़ोसी देश से आते हैं

कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद से ही पाकिस्तान दुनियाभर से समर्थन हासिल करने की कोशिश में लगा हुआ है. हालांकि, उसे हर जगह से दो टूक जवाब ही मिल रहा है.

कश्मीर पर EU ने दिया भारत का साथ, कहा- यहां आतंकी चांद से नहीं पड़ोसी देश से आते हैं
यूरोपीय संघ के एक अन्य नेता फुल्‍वियो मार्तुसाइल्‍लो (Fulvio Martusciello) ने कहा कि पाकिस्‍तान ने भारत के खिलाफ परमाणु हथियारों के इस्‍तेमाल की धमकी दी है.(फाइल फोटो)

नई दिल्ली: जम्मू-कश्मीर (Jammu Kashmir) से अनुच्छेद 370 (Article 370) को खत्म होने के बाद से पाकिस्तान (Pakistan) ने दुनियाभर में इस मामले पर अंतरराष्ट्रीय समर्थन हासिल करने की कोशिश की. लेकिन, पाकिस्तान को हर जगह से निराशा ही हाथ लगी. इन सबके बीच, यूरोपीय संघ (European Union) ने भी कश्मीर मामले पर भारत का समर्थन कर दिया है. यूरोपीय संसद द्वारा कहा गया है कि पाकिस्तान एक संदिग्ध देश है और कश्मीर द्विपक्षीय मामला है. 

यूरोपीय संघ के नेता रिजार्ड जारनेकी (Ryszard Czarnecki) ने कहा कि भारत दुनिया का सबसे बड़ा लोकतांत्रिक देश है. हमें भारत और जम्मू कश्मीर में होने वाली आतंकवादी घटनाओं की ओर देखना चाहिए. रिजार्ड जारनेकी ने पाकिस्तान को कटघरे में खड़ा करते हुए कहा कि ये आतंकवादी चांद से धरती पर नहीं आते हैं. आतंकवादी पड़ोसी देश से भारत में आते हैं. उन्होंने कहा कि हमें इस मामले पर भारत का साथ देना चाहिए.  

 

इसी के साथ यूरोपीय संघ के एक अन्य नेता फुल्‍वियो मार्तुसाइल्‍लो (Fulvio Martusciello) ने कहा कि पाकिस्‍तान ने भारत के खिलाफ परमाणु हथियारों के इस्‍तेमाल की धमकी दी है. पाकिस्तान एक ऐसी जगह है, जहां आतंकवादी यूरोप में आतंकी हमलों को अंजाम देने की योजना बनाते हैं. 

गौरतलब है कि कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद से ही भारत और पाकिस्तान के बीच संबंधों में तनाव जारी है. पाकिस्तान बौखलाहट में सीमा पर सीजफायर का भी लगातार उल्लंघन कर रहा है. साथ ही पाकिस्तान ने भारत के साथ व्यापारिक संबंध भी तोड़ लिए हैं.