चार जवानों की शहादत पर फारुख अब्दुल्ला ने कहा - घुसपैठ और अच्छे संबंध साथ नहीं चल सकते

इससे पहले सेना के चार जवान मंगलवार सुबह आतंकवादियों के साथ हुई एक मुठभेड़ में शहीद हो गए थे. इस मुठभेड़ में 4 आतंकवादी भी मारे गए.

चार जवानों की शहादत पर फारुख अब्दुल्ला ने कहा - घुसपैठ और अच्छे संबंध साथ नहीं चल सकते
नेशनल कांफ्रेंस के नेता फारुख अब्दुल्ला

नई दिल्ली: कश्मीर में सेना के एक मुठभेड़ के दौरान चार जवानों के शहीद होने पर प्रतिक्रिया देते हुए जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री और नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता फारुख अब्दुल्ला ने कहा है कि पाकिस्तान के साथ अच्छे संबंध और घुसपैठ एक साथ नहीं चल सकते. उन्होंने कहा, 'अगर अपने शहीद हो गए हैं तो हमको ये देखना चाहिए कि इसका मुकाबला हमें ही करना होगा. अगर पाकिस्तान भारत के साथ अच्छे संबंध बनाना चाहता है, तो ये जरूरी है कि घुसबैठ को रोका जाए.'

इससे पहले सेना के चार जवान मंगलवार सुबह आतंकवादियों के साथ हुई एक मुठभेड़ में शहीद हो गए थे. इस मुठभेड़ में 4 आतंकवादी भी मारे गए. यह घटना जम्मू कश्मीर के गुरेज में एलओसी के पास आतंकवादियों द्वारा घुसपैठ के दौरान हुई. शहीदों में एक मेजर और तीन जवान शामिल हैं. 

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक सेना ने घुसपैठ करने वाले आतंकवादियों को एलओसी पर गोविंद नल्लाह में 36 राष्ट्रीय राइफल्स के पास चुनौती दी थी. आतंकियों की तरफ से हो रही गोलीबारी के बीच सेना ने भी जवाबी कार्रवाई की. आर्मी ऑफिसर के मुताबिक इस मुठभेड़ में चार आतंकी भागने में कामयाब रहे. माना जा रहा है कि वो चारों आतंकी वापस पीओसी की तरफ चले गए. आतंकी पाकिस्तान की तरफ से हो रही फायरिंग के बीच घुसपैठ करने की कोशिश कर रहे थे.