close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

फारूक अब्दुल्ला ने कहा, '40 लोग CRPF के शहीद हो गए, इसका मुझे शक है

अब्दुल्ला ने कहा, ‘उन्होंने (मोदी ने) क्या किया? छत्तीसगढ़ में इतने भारतीय जवान शहीद हुए क्या मोदी वहां कभी उन्हें श्रद्धांजलि देने गए? क्या उन्होंने कभी उनके परिवारों के प्रति हमदर्दी जताई?

फारूक अब्दुल्ला ने कहा, '40 लोग CRPF के शहीद हो गए, इसका मुझे शक है
नेशनल कॉन्फ्रेंस के अध्यक्ष फारूक अब्दुल्ला श्रीनगर सीट से फिर से मैदान में हैं. (फोटो साभार- PTI )

श्रीनगर: नेशनल कॉन्फ्रेंस के अध्यक्ष फारूक अब्दुल्ला ने शनिवार को केंद्र सरकार पर निशाना साधा. उन्होंने कहा बालाकोट एयर स्ट्राइक और पुलवामा हमले को लेकर मोदी सरकार पर सवाल उठाए. बालाकोट हवाई हमले का हवाला देते हुए अब्दुल्ला ने कहा कि संसद के आखिरी दिनों में कई सदस्यों ने कहा कि ‘मोदी सरकार सभी मोर्चों पर विफल रही है और उसके पास दिखाने को कुछ नहीं है.’ इसलिए उन्होंने ‘ असल मुद्दों से लोगों का ध्यान भटकाने के लिए युद्ध जैसी स्थिति बना दी.’

अब्दुल्ला ने कहा, ‘उन्होंने (मोदी ने) क्या किया? छत्तीसगढ़ में इतने भारतीय जवान शहीद हुए क्या मोदी वहां कभी उन्हें श्रद्धांजलि देने गए? क्या उन्होंने कभी उनके परिवारों के प्रति हमदर्दी जताई? क्या उन्होंने यहां मर रहे जवानों पर कभी कुछ बोला?’  उन्होंने कहा, ‘(पुलवामा में) सीआरपीएफ के 40 कर्मी शहीद हुए. मुझे उसे लेकर शक है और इसलिए में आपको सच बता रहा हूं.’

पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा, ‘उन्होंने यह कह कर पाकिस्तान पर हमला करने की कोशिश की कि हमने वहां 300 (आतंकी) मारे हैं. कुछ ने कहा कि 500 मारे हैं. कुछ ने तो यह भी कहा कि 1000 मारे हैं. सिर्फ यह दिखाना था कि उनमें साहस है और वह कुछ भी कर सकते हैं.’

आम चुनाव भारत को बचाने की लड़ाई
फरूक अब्दुल्ला ने  कहा कि यह आम चुनाव भारत को बचाने की लड़ाई है. जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की देश की जनता से झूठे वायदे करने के लिए आलोचना भी की. 

अब्दुल्ला ने यहां कहा, ‘यह चुनाव भारत को बचाने का है. यह सिर्फ जम्मू कश्मीर के लिए नहीं है. आपको धार्मिक स्वतंत्रता की रक्षा करनी होगी.’

उन्होंने कहा, ‘यह चुनाव इस बात को लेकर है कि क्या भारत धर्मनिरपेक्ष भारत रहेगा या नहीं. यह फारूक अब्दुल्ला का सवाल नहीं है, बल्कि देश को बचाने का सवाल है. इसलिए याद रखिए यह (चुनाव) एक बड़ी लड़ाई है.’  नेशनल कॉन्फ्रेंस के अध्यक्ष श्रीनगर सीट से फिर से मैदान में हैं. वह पार्टी मुख्यालय पर कार्यकर्ताओं को संबोधित कर रहे थे.