गणतंत्र दिवस परेड में 'नारी शक्ति' का होगा प्रदर्शन, विभिन्न टुकड़ियों अगुवाई करेंगी महिला अधिकारी

गणतंत्र दिवस परेड नारी शक्ति का विस्मयकारी प्रदर्शन भी होगा क्योंकि असम राइफल की एक पूर्ण महिला टुकड़ी के अलावा कई टुकड़ियों का महिलाएं नेतृत्व करेंगी.

गणतंत्र दिवस परेड में 'नारी शक्ति' का होगा प्रदर्शन, विभिन्न टुकड़ियों अगुवाई करेंगी महिला अधिकारी

नई दिल्ली: 70 वें गणतंत्र दिवस की परेड में राजपथ पर ऐतिहासिक डेयरडेविल टीम के तहत असम राइफल्स की एक टुकड़ी की अगुवाई में अदम्य नारी शक्ति का प्रदर्शन होगा और एक अकेली महिला अधिकारी बाइक पर स्टंट दिखाएंगी. चीफ ऑफ स्टाफ (हेडक्वार्टर दिल्ली एरिया) मेजर जनरल राजपाल पुनिया ने यहां संवाददाता सम्मेलन में यह जानकारी दी. उन्होंने यह भी बताया कि पहली बार आजाद हिंद फौज के 90 साल से अधिक उम्र के चार सैनिक भी इस परेड में हिस्सा लेंगे.

उन्होंने कहा कि यह गणतंत्र दिवस परेड नारी शक्ति का विस्मयकारी प्रदर्शन भी होगा क्योंकि असम राइफल की एक पूर्ण महिला टुकड़ी के अलावा कई टुकड़ियों का महिलाएं नेतृत्व करेंगी.’’ नौसेना, सेना सेवा कोर की टुकड़ियों और कोर ऑफ सिग्नल्स की इकाई की भी अगुवाई महिला अधिकारी करेंगी.

जब पुनिया से पूछा गया कि क्या इस गणतंत्र दिवस परेड में अबतक महिलाओं की सबसे बड़ी भागीदारी नजर आएगी तो उन्होंने कहा कि इस साल की परेड में उनकी भागीदारी के स्तर खासकर असम राइफल्स की महिला टुकड़ी और अन्य टुकड़ियों की कमान महिलाओं के हाथों में होने को देखते हुए यह परेड में महिलाओं की सबसे बड़ी भागीदारी है. सिग्नल कोर की कप्तान शिखा सुरभि अपनी टीम के पुरुष सहयोगियों के साथ बाइक स्टंट करेंगी.

मेजर खुशबू कंवर (30) देश के सबसे पुराने अर्द्धसैनिक बल असम राइफल्स की टुकड़ी की अगुवाई करेंगी. उन्होंने संवाददाता सम्मेलन से इतर कहा कि असम राइफल्स की महिला टुकड़ी की अगुवाई करना मेरे लिए सम्मान और गर्व की बात है. मैं राजस्थान के एक बस कंडक्टर की बेटी हूं और यदि मैं यह दायित्व पूरा कर सकती हूं तो कोई भी लड़की अपना सपना पूरा कर सकती है.’ 

उन्होंने बताया कि तोप एम 777 अमेरिकन अल्ट्रा लाइट होवित्जर और के 9 वज्र भी इस साल की परेड में शामिल किये गये हैं. हाल ही में अमेरिका से एम 777 अमेरिकन अल्ट्रा लाइट होवित्जर खरीदा गया है. पुनिया ने कहा कि स्वचालित वज्र प्रधानमंत्री की मेक इन इंडिया पहल का प्रतीक है. बुधवार को यहां गणतंत्र दिवस परेड की फुल ड्रेस रिहर्सल हुई. चंडीगढ़ से प्राप्त समाचार के अनुसार 1919 का जालियांवाला बांग नरसंहार इस साल गणतंत्र दिवस परेड में पंजाब की सरकारी झांकी का विषय होगा. पंजाब की झांकी लगातार तीसरी बार परेड में प्रदर्शित होगी