close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

न्यूटन फिल्म के निर्माताओं के खिलाफ मानहानि का मामला किया गया दर्ज

आलोचकों की प्रशंसा बटोर चुकी बॉलीवुड फिल्म ‘न्यूटन’ में केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल की कथित रुप से गलत छवि पेश करने को लेकर उसके निर्माताओं के विरुद्ध यहां एक अदालत में आपराधिक शिकायत और दिवानी मानहानि का मुदकमा दर्ज किया गया है.

न्यूटन फिल्म के निर्माताओं के खिलाफ मानहानि का मामला किया गया दर्ज
राज कुमार राव के मुख्य किरदार वाली यह फिल्म एक ऐसे सरकारी क्लर्क की कहानी है.(फाइल फोटो)

नई दिल्ली: आलोचकों की प्रशंसा बटोर चुकी बॉलीवुड फिल्म ‘न्यूटन’ में केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल की कथित रुप से गलत छवि पेश करने को लेकर उसके निर्माताओं के विरुद्ध यहां एक अदालत में आपराधिक शिकायत और दिवानी मानहानि का मुदकमा दर्ज किया गया है.

राज कुमार राव के मुख्य किरदार वाली यह फिल्म एक ऐसे सरकारी क्लर्क की कहानी है जिसे छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित क्षेत्र में चुनाव ड्यूटी पर भेजा गया . यह फिल्म पिछले साल ऑस्कर की श्रेष्ठ विदेशी भाषा फिल्म की श्रेणी के लिए भारत की आधिकारिक प्रविष्टि थी.

यह भी पढ़ें- OSCAR में भारत की उम्‍मीद बनी राजकुमार राव की फिल्‍म 'न्‍यूटन' हुई रेस से बाहर

अतिरिक्त मुख्य मेट्रोपोलिटन मजिस्ट्रेट अमित अरोड़ा के समक्ष मानहानि मुकदमा और शिकायत दर्ज कराकर मांग की गयी है कि अदालत इस फिल्म के निर्माता मनीष मुंद्रा और प्रोडक्शन कंपनी दृश्यम फिल्म्स के मुख्य कार्यकारी अधिकारी शिलादित्य बोरा को बिना शर्त माफी मांगने तथा शिकायतकर्ता और सीआरपीएफ को मुआवजा देने का निर्देश दे.मामले की सुनवाई एक मार्च को होगी.आपराधिक मानहानि शिकायत में सीआरपीएफ की गलत छवि पेश करने वाले दृश्य को हटाने और इस फिल्म को फिर से रिलीज करने की मांग की गयी है.

सीआरपीएफ उप निरीक्षक तमल सान्याल ने मामले दर्ज किये हैं. शिकायत में कहा गया है कि आरोपियों-- मुंद्रा और बोरा ने स्वतंत्र एवं निष्पक्ष चुनाव कराने में सीआरपीएफ को बाधक के रुप में पेश किया है जो न केवल दुर्भावनापूर्ण,अफसोसजनक और झूठ है बल्कि भारत में पूरी चुनाव प्रक्रिया पर संदेह प्रकट किया है जबकि सीआरपीफ चुनाव में अहम भूमिका निभाती है.

राजकुमार राव की फिल्‍म 'न्‍यूटन' 
साल 2017 में आई राजकुमार राव की फिल्‍म 'न्‍यूटन' भारत की तरफ से ऑस्‍कर की एंट्री बनी और इस फिल्‍म के दमदार विषय और कलाकारों के जबरदस्‍त अभिनय से देश में यह उम्‍मीद बंध गई थी कि क्‍या यह फिल्‍म ऑस्‍कर पाने की हमारी उम्‍मीद पर खरा उतरेगी? लेकिन ऐसा नहीं हो पाया था. क्‍योंकि 'न्‍यूटन' ऑस्‍कर की रेस से बाहर हो गई थी. 'न्‍यूटन' को फिल्‍म फेडरेशन ऑफ इंडिया की तरफ से ऑस्‍कर अवॉर्ड्स में 'बेस्‍ट फॉरिन फिल्‍म' की श्रेणी के लिए भेजी गया था.