close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

दिल्ली-NCR में कोहरे का कहर, कई उड़ानें बाधित, 18 ट्रेनें रद्द

दिल्ली और एनसीआर सहित पूरे उत्तर भारत इलाके में ठंड और घने कोहरे के कारण लोगों की परेशानी बढ़ा दी है. 

दिल्ली-NCR में कोहरे का कहर, कई उड़ानें बाधित, 18 ट्रेनें रद्द
घने कोहरे के कारण करीब 18 ट्रेनें रद्द (फाइल फोटो-ANI)

नई दिल्ली: दिल्ली और एनसीआर सहित पूरे उत्तर भारत इलाके में ठंड और घने कोहरे के कारण लोगों की परेशानी बढ़ा दी है. सड़कों पर ड्राइव करने में जहां लोगों को मुश्किल का सामना करना पड़ा वहीं कई ट्रेनों को रद्द कर दिया गया. कोहरे के कारण जयपुर से दिल्ली आने वाली उड़ानों सहित कई फ्लाइट्स बाधित हुई हैं. दिल्ली में सोमवार सुबह का न्यूनतम तापमान 6.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया. घने कोहरे के कारण मेट्रो परिचालन में भी मुश्किल आईं. कोहरे के कारण प्रदूषण स्तर भी बढ़ गया है.

उत्तर रेलवे के अनुसार सुबह छह बजे तक उत्तर की ओर जाने वाली 43 ट्रेनें देरी से चल रही हैं. जबकि सात ट्रेनों को पुनर्निर्धारित किया गया हैं. वहीं 18 ट्रेनों को रद्द कर दिया गया है.

देरी से पहुंच रही फ्लाइट्स
पिछले तीन दिनों से सुबह और रात के समय घने कोहरे के कारण रनवे पर विजिबिलिटी काफी खराब ही. इस कारण कई इंटरनेशनल और डोमेस्टिक फ्लाइट्स अपने तय समय से घंटों देरी से पहुंची. खराब मौसम को देखते हुए मलिंदो एयरलाइन के साथ ही अमृतसर-कुआलालंपुर फ्लाइट के समय में 31 जनवरी तक तबदीली कर दी है. इंडिगो ने भी अपनी दिल्ली की सुबह की फ्लाइट का समय 29 जनवरी तक तीन घंटे देरी से कर दिया है.

PICS & VIDEO: शिमला में साल की पहली बर्फबारी, ठंड इतनी की पाइपों में जम गया पानी

ठंड का कहर जारी
जम्मू के करगिल और कश्मीर के लद्दाख क्षेत्र में ठंड का कहर जारी है. जम्मू शहर में न्यूनतम तापमान रविवार को 4.1 डिग्री दर्ज किया गया. कारगिल राज्य में सबसे ठंडा रहा, जहां न्यूनतम तापमान शून्य से 16 डिग्री नीचे दर्ज किया गया. लेह का तापमान शून्य से 11.9 डिग्री नीचे दर्ज किया गया." 

अधिकारी ने कहा कि अगले 24 घंटों तक मौसम शुष्क रहने की संभावना है लेकिन राज्य में सोमवार शाम से बारिश हो सकती है.

एक पुरानी परंपरा के नाम पर कड़ाके की ठंड में गर्म लोहे से दागे जाते हैं यहां के मासूम बच्चे

घाटी में नहीं हुई बर्फबारी
घाटी में 21 दिसंबर से भीषण ठंड की अवधि 'चिल्लाई कलां' के शुरू होने के बाद से एक बार भी बर्फबारी नहीं हुई है. बर्फबारी का न होना चिंता का एक कारण है क्योंकि भारी बर्फबारी से ही पहाड़ों में स्थित कश्मीर के जलाशय भरते हैं जिससे गर्मियों के दौरान जल आपूर्ति होती है.

बर्फबारी का न होना चिंता का एक कारण है क्योंकि भारी बर्फबारी से ही पहाड़ों में स्थित कश्मीर के जलाशय भरते हैं जिससे गर्मियों के दौरान जल आपूर्ति होती है.