close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

च्यवनप्राश और कॉस्‍मेटिक केन में मिल रही है विदेशी करेंसी

आईजीआई एयरपोर्ट पर चार मुसाफिरों के कब्‍जे से कस्‍टम और डीआरआई ने बरामद की है करीब दो करोड रुपए की विदेशी करेंसी.

च्यवनप्राश और कॉस्‍मेटिक केन में मिल रही है विदेशी करेंसी
प्रतीकात्मक तस्वीर

नई दिल्‍लीः च्यवनप्राश के डिब्‍बों और कॉस्‍मेटिक के केन के भीतर से इन दिनों विदेशी करेंसी निकल रही है. जी हां, यह ना तो किसी च्यवनप्राश या कॉस्‍मेटिक कंपनी का ऑफर है और ना ही उनसे यह गलती से हुई है. बल्कि हवाला कारोबार से जुड़े तस्‍करों ने विदेशी करेंसी की तस्‍करी का यह नया तरीका निकाला है. तस्‍कर कस्‍टम सहित दूसरी सुरक्षा एजेंसियों को चकमा देने के लिए तस्‍कर च्यवनप्राश और कॉस्‍मेटिक के डिब्‍बों के भीतर विदेशी करेंसी छिपाकर विदेश ले जाने की कोशिश कर रहे हैं. अप्रैल में कस्‍टम और डायक्‍टरेट आफ रेवेन्‍यू इंटेलीजेंस (डीआरआई) ने इंदिरा गांधी अंतरराष्‍ट्रीय एयरपोर्ट पर इस तरह की कोशिश को नाकाम करते हुए चार तस्‍करों को गिरफ़तार कर 1.93 करोड़ रुपए कीमत की विदेशी करेंसी जब्‍त की है.

खाड़ी देशों के रास्‍ते तस्‍करी की कोशिश
कस्‍टम के वरिष्‍ठ अधिकारी के अनुसार 20 अप्रैल को आईजीआई एयरपोर्ट पर एक-एक करके तीन युवकों को पकड़ा गया. किसी ने क्रीम तो किसी ने डियो के केन में विदेशी करेंसी छिपा रखी थी. इन तीनों के कब्‍जे से अमेरिकी डालर, दिरहम और ओमानी रियाल बरामद किया गया था. इनके कब्‍जे से बरामद विदेशी करेंसी का भारतीय मुद्रा मे मूल्‍य करीब 79.52 लाख रुपए थी. इस घटना के कुछ समय बाद डीआरआई ने एक युवक को गिरफ़तार किया. इसके पास से बरामद च्यवनप्राश के डिब्‍बे के भीतर से 58.5 लाख रुपए की नगदी बरामद की गई थी. पूछताछ में पता चला कि चारों आरोपी दुबई जा रहे थे. पूछताछ में उन्‍होंने बताया कि यह करेंसी उन्‍हे दुबई के एक शख्‍स तक पहुंचाने की जिम्‍मेदारी दी गई थी.

खाडी देश जाने वाले हर शख्‍स पर कस्‍टम की नजर
खाड़ी देशों के रास्‍ते करेंसी और सोने की तस्‍करी के बढ़ते मामलों को देखते हुए कस्‍टम ने इन सेक्‍टर से आवागमन करने वाले मुसाफिरों पर नजर पैनी कर दी है. सॉफ़टवेयर के जरिए उन नामों को शार्ट लिस्‍ट किया जा रहा है, जो लगातार खाड़ी देशों की यात्रा कर रहे हैं. इसके अलावा, पहली बार खाड़ी देशों की तरफ जाने वाले यात्रियों की निगरानी सीसीटीवी कैमरों और प्रोफाइलर्स के जरिए की जा रही है.

बीते वर्ष करेंसी तस्‍करी के मामले

वर्ष   -     मामले - जब्‍त करेंसी
2017-18 - 31 - 10.52 करोड रुपए
2016-17 - 27 - 6.2 करोड रुपए