फ्रांस के राष्ट्रपति फ्रांस्वा ओलांद की भारत यात्रा आज से, चंडीगढ़ से शुरू होगा दौरा

फ्रांस के राष्ट्रपति फ्रांसवा ओलोंद आज अपने तीन दिन के दौरे पर भारत आएंगे। ओलोंद के भारत दौरे की शुरुआत चंडीगढ़ से होगी। ओलोंद की अगवानी के लिए पीएम मोदी भी चंडीगढ़ में मौजूद रहेंगे। ओलोंद अपने तीन दिन के दौरे के दौरान मोदी के साथ एक व्यापार शिखर सम्मेलन में शामिल होंगे तथा कई प्रमुख स्थलों का दौरा करेंगे।

फ्रांस के राष्ट्रपति फ्रांस्वा ओलांद की भारत यात्रा आज से, चंडीगढ़ से शुरू होगा दौरा

चंडीगढ़ : फ्रांस के राष्ट्रपति फ्रांसवा ओलांद आज अपने तीन दिन के दौरे पर भारत आएंगे। ओलांद के भारत दौरे की शुरुआत चंडीगढ़ से होगी। ओलांद की अगवानी के लिए पीएम मोदी भी चंडीगढ़ में मौजूद रहेंगे। ओलांद अपने तीन दिन के दौरे के दौरान मोदी के साथ एक व्यापार शिखर सम्मेलन में शामिल होंगे तथा कई प्रमुख स्थलों का दौरा करेंगे।

ओलांद और मोदी के यहां पहुंचने से पहले पूरे चंडीगढ़ में सुरक्षा पुख्ता कर दी है। दोनों नेता भारत-फ्रांस शिखर सम्मेलन में हिस्सा लेंगे।

एक उच्च स्तरीय प्रतिनिधिमंडल के साथ फ्रांस के राष्ट्रपति दिन में करीब एक बजे चंडीगढ़ पहुंचेंगे। चंडीगढ़ शहर का डिजाइन स्विस-फ्रांसीसी वास्तुकार चार्ल्स-एदुएर्द जीनरेट-ग्रीस ने तैयार किया था।

दोनों नेता शहर के कई प्रमुख पर्यटन स्थलों रॉक गार्डन, कैपिटल काम्पलेक्स और सरकारी संग्रहालय एवं आर्ट गैलेरी का दौरा करेंगे। वे तीनों स्थानों पर 15-15 मिनट रूकेंगे।

शाम के समय दोनों अलग अलग दिल्ली के लिए रवाना होंगे। ओलांद 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस की परेड में मुख्य अतिथि होंगे।

ओलांद मोदी के साथ बातचीत करेंगे। इस दौरान दोनों देशों के बीच पेरिस एवं पठानकोट हमलों की पृष्ठभूमि में आतंकवाद विरोधी लड़ाई में सहयोग बढ़ाने के उपायों पर प्रमुखता से विचार होगा।

गणतंत्र दिवस परेड में मुख्य अतिथि के तौर पर शामिल होने वाले ओलांद फ्रांस के पांचवें नेता होंगे।

परेड में पहली बार ऐसा होगा, जब फ्रांस के सैनिक भारतीय सैनिकों के साथ राजपथ पर मार्च करेंगे।

आतंकवाद, जलवायु परिवर्तन और स्मार्ट सिटीज पर बातचीत होगी

फ्रांस के राजदूत फ्रांस्वा रिचियर ने कहा है कि ओलांद की यात्रा के दौरान आतंकवाद, जलवायु परिवर्तन और स्मार्ट सिटीज पर बातचीत होगी। ओलांद की इस रविवार से शुरू हो रही यात्रा पर राजदूत ने कहा कि वह मुख्य रूप से तीन क्षेत्रों में ध्यान दिये जाने की उम्मीद देखते हैं।

उन्होंने कहा, ‘सीरिया, इराक और अफ्रीका में आपात स्थिति, सैन्य अभियान एवं भारत के हालात समेत मौजूदा हालात को देखते हुए आतंकवाद पर विशेष ध्यान रहेगा।’ रिचियर ने कहा कि फ्रांस और भारत साझा हितों और मूल्यों को सुरक्षित रखना चाहते हैं।

उन्होंने अपने आवास पर संवाददाताओं से बातचीत में कहा, ‘यह मौका सभी को केवल याद दिलाने के लिए नहीं बल्कि आतंकवाद से लड़ने की दिशा में कुछ कदम उठाने के लिए है और एजेंडा में यह बात शीर्ष पर रहेगी।’ दिल्ली में सुरक्षा बलों को बहुत सक्षम बताते हुए रिचियर ने कहा कि वह यात्रा पर आ रहे प्रतिनिधिमंडल पर किसी तरह के हमले को रोकने के लिए फ्रांसीसी अधिकारियों के साथ करीब से काम करने के लिए राजधानी में सुरक्षा व्यवस्था के प्रति आभारी हैं।

(एजेंसी इनपुट के साथ)