close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

गौतम गंभीर ने इमरान खान को बताया 'आतंकियों का रोल मॉडल', कहा - खेल जगत इनका बहिष्कार करे

पूर्व भारतीय क्रिकेटर और बीजेपी सांसद गौतम गंभीर ने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान पर निशाना साधते हुए उन्हें 'आतंकवादियों का रोल मॉडल' करार दिया.

गौतम गंभीर ने इमरान खान को बताया 'आतंकियों का रोल मॉडल', कहा - खेल जगत इनका बहिष्कार करे
गंभीर ने कहा कि इमरान आतंकवादियों के रोल मॉडल की तरह बोल रहे थे.

नई दिल्ली: पूर्व भारतीय क्रिकेटर और बीजेपी सांसद गौतम गंभीर (Gautam Gambhir) ने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान (Imran khan) पर निशाना साधते हुए उन्हें 'आतंकवादियों का रोल मॉडल' करार दिया और खेल समुदाय से बहिष्कार की मांग की. सोमवार को अपने एक ट्वीट में गंभीर ने कहा, 'खिलाड़ियों को रोल मॉडल माना जाता है. उनके अच्छे व्यवहार के लिए, टीम भावना के लिए, उनके मजबूत चरित्र के लिए. हाल ही में हमने यूएन (United Nations) में एक पूर्व खिलाड़ी को बोलते देखा. वह आतंकवादियों के रोल मॉडल की तरह बोल रहे थे. समुदाय को इमरान खान का बहिष्कार करना चाहिए.'

 

 

भारतीय टीम के पूर्व सलामी बल्लेबाज गौतम गंभीर ने बीते शनिवार को पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान द्वारा संयुक्त राष्ट्र (यूएन) में दिए गए उनके भाषण पर जमकर लताड़ लगाई थी. गंभीर ने ट्वीट किया, "हर देश को 15 मिनट का समय दिया गया था. इसमें कोई क्या करता है, यह उसका चरित्र और बौद्धिकता बताता है. नरेद्र मोदी ने जहां शांति और विकास की बात की वहीं पाकिस्तानी सेना की कठपुतली ने न्यूक्लियर वॉर की धमकी दी. यह वही शख्स है, जिसने कश्मीर में शांति को बढ़ावा देने की बात कही थी." मोदी ने यूएनजीसीए में कहा था कि भारत ने दुनिया को युद्ध नहीं बुद्ध दिया है जबकि इमरान ने लड़ाई की बात को तरजीह दी.

LIVE टीवी:

'पूर्व पीएम मनमोहन को आमंत्रण पाकिस्तान की चाल'
गौतम गंभीर ने करितारपुर कॉरिडोर के उद्घाटन समारोह में पाकिस्तान द्वारा पूर्व प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह को आमंत्रित किए जाने के कदम को राजनीतिक चाल करार दिया. गंभीर ने कहा, "यह कांग्रेस पर निर्भर करता है कि वह डॉ. सिंह को पाकिस्तान जाने दे या न जाने दे. नवजोत सिंह सिद्धू गए थे और उन्होंने जनरल बाजवा को गले लगाया था. कांग्रेस में केवल एक ही व्यक्ति ही ने इसका विरोध किया था, वह थे - कैप्टन अमरिंदर सिंह." उन्होंने आगे कहा, "शायद यह पाकिस्तान की फिर से एक नई चाल हो क्योंकि उन्होंने यूएन में कांग्रेस के नाम का उल्लेख किया था."