close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

कश्मीर के सभी स्कूल बंद थे लेकिन गिलानी की पोती का स्कूल खुला

कश्मीर घाटी के स्कूल आतंकवादी बुरहान वानी के मारे जाने के बाद से जहां बंद हैं, वहीं अलगाववादी नेता सैयद अली शाह गिलानी की पोती जिस स्कूल में पढ़ती थी उस स्कूल में कड़ी सुरक्षा के बीच परीक्षा संपन्न हुई। गिलानी की पोती श्रीनगर के दिल्ली पब्लिक स्कूल में पढ़ती है। एक ओर कश्मीर के सभी स्कूल बंद थे वहीं श्रीनगर के डीपीएस ने अपने यहां पढ़ने वाले 573 बच्चों के एग्जाम करवाए। गिलानी को पोती 10वीं क्लास में पढ़ती है।

कश्मीर के सभी स्कूल बंद थे लेकिन गिलानी की पोती का स्कूल खुला

श्रीनगर : कश्मीर घाटी के स्कूल आतंकवादी बुरहान वानी के मारे जाने के बाद से जहां बंद हैं, वहीं अलगाववादी नेता सैयद अली शाह गिलानी की पोती जिस स्कूल में पढ़ती थी उस स्कूल में कड़ी सुरक्षा के बीच परीक्षा संपन्न हुई। गिलानी की पोती श्रीनगर के दिल्ली पब्लिक स्कूल में पढ़ती है। एक ओर कश्मीर के सभी स्कूल बंद थे वहीं श्रीनगर के डीपीएस ने अपने यहां पढ़ने वाले 573 बच्चों के एग्जाम करवाए। गिलानी को पोती 10वीं क्लास में पढ़ती है।

रिपोर्ट के अनुसार डीपीएस ने कड़ी सुरक्षा के बीच गत 1 से 5 अक्टूबर तक अपने इंटरनल एग्जाम कराए। आतंकवादी बुरहान वानी के मारे जाने के बाद से अलगाववादी नेताओं ने कश्मीर में बंद का एलान कर रखा है। पिछले दनों कश्मीर के सरकारी स्कूलों की इमारतों में आग लगा दी गई है। हालांकि, हुर्रियत ने इसका विरोध किया था लेकिन स्कूलों को खुलने की इजाजत नहीं दी। 

गिलानी की जो पोती डीपीएस में पढ़ती है उसके पिता का नाम नईम जफर गिलानी है। वह गिलानी के सबसे बड़े बेटे हैं। नईम अपने पिता की किसी पार्टी के सदस्य नहीं हैं और उनसे अलग श्रीनगर में रहते हैं। उन्होंने कहा कि अगर उनकी बेटी पेपर नहीं देती तो उसकी पढ़ाई खराब होती और उसके मार्च में होने वाले फाइनल एग्जाम में नहीं बैठने दिया जाता।

हाल ही में बंद को खत्म करने और स्कूलों को खुलवाने के लिए राज्य सरकार ने सभी कक्षाओं की परीक्षाओं को समय से कराने की घोषणा की थी। हालांकि छात्रों और अभिभावकों ने राज्य सरकार के फैसले के खिलाफ विरोध जताया और घाटी की स्थिति को देखते हुए इसे बाद में कराने की मांग की।