close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

सरकार ने लोकसभा में कहा- सीमापार घुसपैठ में 43% की गिरावट

गृह राज्य मंत्री नित्यानंद राय ने एक लिखित जवाब में लोकसभा को बताया कि सरकार ने सीमा पार से घुसपैठ के प्रति शून्य सहिष्णुता की नीति अपनाई है.

सरकार ने लोकसभा में कहा- सीमापार घुसपैठ में 43% की गिरावट
(प्रतीकात्मक फोटो)

नई दिल्ली: जम्मू एवं कश्मीर में 2019 की पहली छमाही में सीमापार घुसपैठ 43% तक कम हो गई है. सरकार ने संसद में मंगलवार को यह जानकारी दी और बताया कि भारत-पाकिस्तान सीमा पर कांटेदार तार की बाड़ लगाने का काम मार्च 2020 तक पूरा हो जाएगा.

गृह राज्य मंत्री नित्यानंद राय ने एक लिखित जवाब में लोकसभा को बताया कि सरकार ने सीमा पार से घुसपैठ के प्रति शून्य सहिष्णुता की नीति अपनाई है.

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के सदस्य रमेश चंद्र कौशिक के एक सवाल पर उन्होंने कहा, 'सुरक्षा बलों के ठोस और समन्वित प्रयासों के कारण, राज्य में सुरक्षा स्थिति में इस वर्ष की पहली छमाही में 2018 की तुलना में सुधार देखा गया है. कुल घुसपैठ 43% कम हो गई है.' 

'घुसपैठ को रोकने के लिए बहु-आयामी दृष्टिकोण अपनाया है'
राय ने कहा, 'केंद्र ने राज्य सरकार के साथ मिलकर सीमा पार से घुसपैठ को रोकने के लिए एक बहु-आयामी दृष्टिकोण अपनाया है, जिसमें अंतर्राष्ट्रीय सीमा और नियंत्रण रेखा पर बाड़ लगाना, बेहतर खुफिया जानकारी के साथ बहु-स्तरीय तैनाती करना शामिल है.' 

राय ने कहा कि इसके अलावा परिचालन समन्वय, सुरक्षा बलों को बेहतर तकनीकी हथियारों से लैस करना और घुसपैठियों के खिलाफ सक्रिय कार्रवाई करना इसमें शामिल है.

भारत-पाकिस्तान सीमा पर बाड़ लगाने की स्थिति के बारे में मंत्री ने कहा कि सरकार ने 2,069.046 किलोमीटर की बाड़ लगाने को मंजूरी दी है, जिसमें से 2,004.666 किलोमीटर की बाड़ लगाने का काम पूरा हो चुका है और शेष 64.38 किलोमीटर पर काम चल रहा है और वह मार्च 2020 तक पूरा हो जाएगा.