राज्यपालों से स्वच्छ भारत अभियान का नेतृत्व करने की अपील

स्वच्छ भारत अभियान को बढ़ावा देने के लिए राष्ट्रपति भवन में आज राज्यों के राज्यपाल एवं केंद्र शासित क्षेत्रों के प्रशासकों को अभियान से जुड़ी जानकारी दी गयी और इसे सफल बनाने के लिए इसका नेतृत्व करने की अपील की गयी।

नई दिल्ली : स्वच्छ भारत अभियान को बढ़ावा देने के लिए राष्ट्रपति भवन में आज राज्यों के राज्यपाल एवं केंद्र शासित क्षेत्रों के प्रशासकों को अभियान से जुड़ी जानकारी दी गयी और इसे सफल बनाने के लिए इसका नेतृत्व करने की अपील की गयी।

शहरी विकास मंत्री वेंकैया नायडू ने अभियान के उद्देश्यों, भौतिक लक्ष्यों एवं 2019 तक देश के सभी शहरी इलाकों में स्वच्छता सुनिश्चित करने के लिए रणनीति को लेकर एक प्रस्तुति दी। राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी भी प्रस्तुति के दौरान मौजूद थे।

नायडू ने कहा कि स्वच्छता हासिल करने की रणनीति में स्वच्छता की दिशा में व्यवहार संबंधी बदलाव के लिए जागरूकता निर्माण एवं खुले में शौच पर रोक लगाना सबसे महत्वपूर्ण है। उन्होंने साथ ही राज्यपालों एवं प्रशासकों से अभियान का नेतृत्व करने की भी अपील की। उन्होंने कहा कि वे अपने अपने राज्यों और केंद्र शासित क्षेत्रों में समय समय पर अभियान की प्रगति की समीक्षा भी कर सकते हैं और सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने वाले स्थानीय शहरी निकायों, लोगों एवं संगठनों को सम्मानित कर सकते हैं।

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी स्वच्छ भारत अभियान को एक ‘जन आंदोलन’ बनते देखना चाहते हैं और कई प्रतिष्ठित लोगों को ब्रांड एंबेसडर के तौर पर अभियान से जोड़ा गया है। नायडू ने राज्यपालों एवं प्रशासकों के सम्मेलन के एजेंडे में अभियान से जुड़ी प्रस्तुति को शामिल करने के लिए राष्ट्रपति का आभार जताया।